स्मृति ईरानी ने लोगों से की खास अपील, डाटाबेस बनाने के लिए परंपरागत व्यंजन की जानकारी करें साझा

0
303

नई दिल्ली। महिला एवं बाल विकास मंत्रालय उच्च पोषक क्षमता वाले स्वदेशी खाद्य पदार्थो का डाटाबेस तैयार करना चाहता है। महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने इसके लिए लोगों से अपने क्षेत्रों में प्रचलित परंपरागत व्यंजन की जानकारी साझा करने को कहा है। स्मृति ने यह अपील ऐसे समय की है, जब देश सितंबर को पोषण माह के रूप में मना रहा है।

मंत्रालय देश के लोगों का समर्थन मांगता है: स्मृति

स्मृति ने कहा कि स्वदेशी खाद्य पदार्थो का डाटाबेस बनाने के प्रयास में उनका मंत्रालय देश के लोगों का समर्थन मांगता है। अपने क्षेत्र और परिवार के परंपरागत खाने की जानकारी साझा कर भारतीय पोषण कृषि कोश के निर्माण में मदद कीजिए।

स्वेदेशी रेसिपी का डाटाबेस करना है तैयार

उन्होंने कहा कि उनका लक्ष्य देश के हर कोने की स्वदेशी रेसिपी का डाटाबेस तैयार करना है। स्वदेशी खाद्य पदार्थो की लंबी श्रृंखला देश में मौजूद है। इन खानों का न सिर्फ अपना फ्लेवर है, बल्कि यह शरीर और मन के पोषण के लिए जरूरी पोषक तत्वों से भी भरपूर है।

राहुल गांधी पर स्मृति ईरानी ने कसा था तंज

वहीं, दूसरी ओर रविवार को केंद्रीय मंत्री ने एक मजेदार वायरल रैप के एक अलग वर्जन को पोस्ट किया था जिसे कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी पर तंज कसने के रूप में बनाया गया था। वीडियो में, स्मृति ईरानी साल 2010 के लोकप्रिय धारावाहिक ‘साथ निभाना साथिया’ में कोकिलाबेन के मशहूर संवाद ‘रसोड़े में कौन था’ की लिपसिंक करते हुए दिखाई दे रही हैं। ठीक इसी तरह से बाकी के किरदारों में राहुल गांधी (राशी बेन) और कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (गोपी बहू) के विजुअल को शामिल किया गया है। अपने इस पोस्ट को कैप्शन देते हुए स्मृति ने लिखा, ‘बस अब यही बचा था।’