एक महीने पहले हुआ था धार्मिक जलसा, अब जागी पाकिस्तान सरकार; रायविंड को किया गया सील

0
137

लंदन। लग रहा है अब पाकिस्तान दुनियाभर में कोरोना वायरस को फैलाने में चीन का भागीदार बन गया है। 10 मार्च को यहां सुन्नी इस्लामिक मिशनरी आंदोलन के लगभग 80,000, जिन्हें तब्लीगी जमात कहा जाता है, रायविंड में एक एकत्रित हुए थे। ये लोग यहां एक वार्षिक सम्मेलन इज्तेमा के लिए इकट्ठा हुए थे। तीन दिनों तक चले इस कार्यक्रम में विदेशों से आए करीब 3000 लोगों ने हिस्सा लिया था और अब इस जगह को क्वारंटाइन किया गया है। हालांकि इस काम में पाक सरकार ने काफी देरी कर दी है। इस कार्यक्रम को हुए एक महीने से भी ज्यादा का समय बीत चुका है। पाकिस्तान में इस कार्यक्रम में शामिल हुए लोग दुनियाभर में कोरोना वायरस को फैला रहे होंगे और जिससे लाखों लोगों का जीवन खतरे में पड़ सकता है।

द मिडिल ईस्ट आई की रिपोर्ट के मुताबिक फिलीस्तीन के गाजा पट्टी में कोरोना के दो मामले दर्ज किए गए हैं ये दोनों फलस्तीनी नागरिक इस कार्यक्रम में शामिल हुए थे। इस सबके बीच पाकिस्तान सरकार का दावा है कि वो इस वार्षिक कार्यक्रम में शामिल हुए हजारों तब्लीगी जमात सदस्यों को ट्रेस कर रही है और उनको क्वारंटाइन कर उनके शहरों में वापस भेज रही है। पाकिस्तान में कोरोना जैसे घातक वायरस से लड़ने के लिए पर्याप्त आधुनिक स्वास्थ्य सेवाओं का अभाव है। ऐसे में पाकिस्तान में हुआ यह धार्मिक जलसा लाखों को खतरे में ड़ालने का कारण बन सकता है जिसमें ना सिर्फ पाकिस्तान बल्कि दूसरे देशों के लोग के प्रभावित होने की भी पूरी संभावना है।