कांग्रेस की प्रोटेस्ट रैली में 25 हजार लोगों को लाने की तैयारी

0
111

भोपाल : कांग्रेस नागरिकता संशोधन कानून का पुरजोर तरीके से विरोध कर रही है। विरोध को असरदार बनाने के लिए राज्यों में बड़े पैमाने पर प्रदर्शन के निर्देश दिए गए ह। कांग्रेस के सभी बड़े नेताओं ने भोपाल में होने वाली प्रोटेस्ट रैली को सफल और प्रभावी बनाने का बीड़ा उठा लिया है।

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का एक वीडियो वायरल हुआ है जिसमें वे कार्यकर्ताओं को समझा रहे हैं कि किस तरह से नागरिकता संशोधन कानून का विरोध करना है। ये वीडियो इंदौर का है जहां दिग्विजय सिंह कह रहे हैं कि देश संकट में है और कांग्रेस संकट में है, इस संकट से बचाने के लिए हमको एक हाथ में तिरंगा झंडा और दूसरे में संविधान की कॉपी लेकर विरोध करना है।

नारा लगाना है कि हम सब एक हैं और हिंदु,मुस्लिम, सिक्ख इसाई आपस में हैं भाई-भाई। जहां हमको पुलिस रोके वहां पर खड़े होकर जन गण मन का गायन शुरु कर देना है। दिग्विजय सिंह रविवार को इंदौर के दौरे पर थे और वहीं पर उन्होंने कार्यकर्ताओं से मुलाकात की। दिग्विजय ने ट्वीट होकर कहा कि हम आह भी भरते हैं तो हो जाते हैं बदनाम, वे कत्ल भी करते हैं तो चर्चा नहीं होती। इस शेर के साथ उन्होंने लिखा कि 100 साल भी ये शेर आज की स्थिति पर पूरी तरह लागू होता है, गुलाम भारत और आजाद भारत में क्या फर्क हुआ। उनका इशारा मोदी सरकार की तरफ था।

प्रोटेस्ट रैली में आम नागरिकों को जोडऩे की कोशिश :
25 दिसंबर को भोपाल में होने वाली प्रोटेस्ट रैली की अगुवाई मुख्यमंत्री कमलनाथ करेंगे। कार्यकर्ता रंगमहल चौराहे पर इक_ा होकर रोशनपुरा चौराहा जाएंगे। ये प्रोटेस्ट रैली रोशनपुरा से शुरु होकर मिटों हॉल स्थित गांधी प्रतिमा के सामने समाप्त होगी। यहां पर सीएम मीडिया से चर्चा करेंगे।

इस रैली में सभी मंत्री,विधायकों के साथ अन्य दलों के नेताओं को भी शामिल किया जाएगा। रैली में करीब 25 हजार लोगों को जुटाने का लक्ष्य रखा गया है। संगठन प्रभारी चंद्रप्रभाष शेखर ने सभी जिला अध्यक्षों को कार्यकर्ताओं के साथ भोपाल आने के निर्देश जारी कर दिए हैं।

चंद्रप्रभाष शेखर कहते हैं कि भोपाल के आसपास के जिले सीहोर,विदिशा, रायसेन, होशंगाबाद, राजगढ़ जैसे जिलों से ज्यादा कार्यकर्ताओं को शामिल होने के कहा गया है। रैली में धर्म गुरुओं और आम नागरिकों को भी शामिल किया जाएगा।