पीएम मोदी ने कहा- कोरोना के चलते आर्थिक पैकेज से ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मिलेगा नया जीवन

0
332

नई दिल्ली। कोविड-19 के चलते केंद्र सरकार की ओर से विशेष आर्थिक पैकेज की पांचवीं और आखिरी किस्त जारी करने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इससे उद्यमिता को फायदा होगा। साथ ही, सार्वजनिक क्षेत्र की इकाइयों को मदद मिलेगी और ग्रामीण अर्थव्यवस्था भी पुनर्जीवित हो सकेगी। उन्होंने कहा कि इस पैकेज से स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में भी आमूलचूल बदलाव होगा। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी कहा कि आत्मनिर्भर भारत के विचार को मूर्तरूप देने में आर्थिक पैकेज मोदी सरकार के लिए बेहद कारगर साबित होगा।

पीएम ने कहा- सुधारवादी कदमों से स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में बड़ा बदलाव होगा

प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की उद्घोषणा के बाद ट्वीट करके कहा कि इन सुधारवादी कदमों से राज्यों को भी बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि वित्त मंत्री की ओर से आज की गई घोषणाओं और सुधारवादी कदमों से हमारे स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में बड़ा बदलाव होगा। इससे उद्योगों को भी बढ़ावा मिलेगा और ग्रामीण अर्थव्यवस्था को नया जीवन मिलेगा।

अमित शाह ने कहा- ग्रामीण अर्थव्यवस्था और बुनियादी ढांचे को मजबूती मिलेगी

इसीतरह केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कई ट्वीट करके कहा कि मनरेगा के लिए 40 हजार करोड़ रुपये का अतिरिक्त प्रावधान गरीबों और प्रवासी मजदूरों के लिए रोजगार मुहैया कराएगा। इससे उनके जीवनयापन के टिकाऊ आधार बनेंगे। इससे ग्रामीण अर्थव्यवस्था और बुनियादी ढांचे को मजबूती मिलेगी। मोदी सरकार की आज की घोषणा आत्मनिर्भर भारत के विचार को साकार करने में कारगर होगी।

भविष्य में किसी भी महामारी से निपटने के लिए स्वास्थ्य क्षेत्र तैयार

यह कदम स्वास्थ्य, शिक्षा और उद्योग जगत के लिए गेम चेंजर साबित होंगे। इससे करोड़ों गरीब लोगों को रोजगार मिलेगा। मैं इसके लिए प्रधानमंत्री मोदी और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को धन्यवाद देता हूं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत कोविड-19 महामारी से कई विकसित देशों से बेहतर तरीके से मुकाबला कर रहा है। उन्होंने भविष्य में भी किसी महामारी से निपटने के लिए भारत को खासकर स्वास्थ्य क्षेत्र को तैयार कर दिया है।

मनरेगा के लिए अतिरिक्त फंड से प्रवासी मजदूरों को काम मिलेगा : भाजपा

नई दिल्ली, प्रेट्र : भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने प्रधानमंत्री के समय रहते लिए गए फैसले की प्रशंसा करते हुए कहा कि ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) के तहत 40 हजार करोड़ रुपये की राशि का अतिरिक्त प्रावधान किए जाने से अपने घरों को लौट रहे प्रवासी मजदूरों के परिवारों को रोजगार और आय के साधन मिलेंगे।

नड्डा ने कहा- सभी जिलों में संक्रामक रोगों का अलग ब्लॉक बनाने की तैयारी

नड्डा ने ट्वीट करके बताया कि स्वास्थ्य संबंधी आधारभूत ढांचे में निवेश, जनस्वास्थ्य पर खर्च, सभी जिलों में संक्रामक रोगों का अलग ब्लॉक बनाने और ब्लॉक स्तर पर सभी जनस्वास्थ्य जांच प्रयोगशालाओं को एकीकृत करने की तैयारी है। इससे न सिर्फ आज की चुनौतियों से निपटा जाएगा बल्कि भविष्य में आने वाले खतरों का भी मुकाबला किया जा सकेगा।