PM Modi: सिकल सेल उन्मूलन मिशन की पीएम मोदी आज करेंगे शुरुआत; रानी दुर्गावती गौरव यात्रा का करेंगे समापन

0
53

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को मध्य प्रदेश के शहडोल जिले में राष्ट्रीय सिकल सेल एनीमिया उन्मूलन मिशन की शुरुआत करेंगे। इस दौरान लाभार्थियों को सिकल सेल जेनेटिक स्टेटस कार्ड का वितरण भी करेंगे। प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) से जारी बयान के मुताबिक, मिशन का उद्देश्य जनजातीय आबादी के बीच उत्पन्न स्वास्थ्य चुनौतियों का समाधान करना है। केंद्रीय बजट 2023 में राष्ट्रीय सिकल सेल एनीमिया उन्मूलन मिशन की घोषणा की गई थी।

मिशन यूपी समेत देश के 17 राज्यों, गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान, मध्य प्रदेश, झारखंड, छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, तमिलनाडु, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, असम, केरल, बिहार और उत्तराखंड के 278 जिलों में लागू किया जाएगा। पीएमओ ने बताया कि मिशन 2047 तक सार्वजनिक स्वास्थ्य समस्या के रूप में सिकल सेल रोग को खत्म करने के लिए सरकार के प्रयासों में मील का पत्थर साबित होगा। प्रधानमंत्री प्रदेश के करीब 3.57 करोड़ आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (एबी-पीएमजेएवाई) कार्ड के वितरण की शुरुआत भी करेंगे। इस सप्ताह यह प्रधानमंत्री मोदी का मध्य प्रदेश का दूसरा दौरा होगा।

रानी दुर्गावती को देंगे श्रद्धांजलि
प्रधानमंत्री मोदी प्रदेश सरकार द्वारा आयोजित रानी दुर्गावती गौरव यात्रा का समापन भी करेंगे। इस दौरान मोदी रानी दुर्गावती को श्रद्धांजलि देंगे। रानी दुर्गावती, 16वीं शताब्दी के मध्य में गोंडवाना की शासक थीं। उन्हें एक बहादुर, निडर और साहसी योद्धा के रूप में याद किया जाता है, जिन्होंने मुगलों के खिलाफ स्वतंत्रता के लिए लड़ाई लड़ी।

पकरिया गांव भी जाएंगे
प्रधानमंत्री, एक अनूठी पहल के तहत शहडोल जिले के पकरिया गांव का दौरा करेंगे। वहां जनजातीय समुदाय, स्वयं सहायता समूहों, विभिन्न पंचायत समितियों के नेताओं और ग्राम फुटबॉल क्लब के कप्तानों से बातचीत करेंगे।

आज 17वीं भारतीय सहकारी कांग्रेस को संबोधित करेंगे पीएम
पीएम नरेंद्र मोदी शनिवार को अंतरराष्ट्रीय सहकारिता दिवस के अवसर पर 17वीं भारतीय सहकारी कांग्रेस को संबोधित करेंगे। इसका आयोजन राजधानी स्थित प्रगति मैदान में किया जाएगा। प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि ‘सहकार से समृद्धि’ के दृष्टिकोण के तहत प्रधानमंत्री के दृढ़ विश्वास से प्रेरित होकर सरकार देश में सहकारी आंदोलन को बढ़ावा देने के लिए लगातार कदम उठा रही है। 17वीं भारतीय सहकारी कांग्रेस का आयोजन 1-2 जुलाई को किया जा रहा है।