MP: सीएम शिवराज के बेटे कार्तिकेय ने सुनी ग्रामीणों की समस्याएं ,बुधनी में लगी चौपाल

0
51

मध्य प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) विधानसभा चुनाव 2023 के लिए पूरी तरह से एक्शन मोड में आ गए हैं. सीएम शिवराज संपूर्ण प्रदेश में आमसभाओं, बैठकों सहित अन्य कार्यों में व्यस्त हैं. उनकी व्यस्ताओं को देखते हुए उनके पुत्र कार्तिकेय सिंह चौहान (Kartikeya Singh Chouhan) ने उनकी विधानसभा बुधनी का जिम्मा अपने सिर ले लिया है. कार्तिकेय सिंह चौहान इन दिनों बुधनी विधानसभा में सक्रिय हैं. मंगलवार को कार्तिकेय सिंह चौहान ने बुधनी में एक चौपाल में ग्रामीणों की समस्याएं सुनी.

इस मौके पर उनके साथ कलेक्टर प्रवीण कुमार सिंह मौजूद रहे. इस दौरान सीहोर कलेक्टर प्रवीण कुमार सिंह की पहल फिर रंग लाई. यहां एक बुजुर्ग को अपने सपनों का आशियाना मिलेगा. बुजुर्ग के घर के निर्माण के लिए कलेक्टर ने 25 हजार रुपये दिए. वहीं कार्तिकेय सिंह चौहान ने भी घर निर्माण के लिए 25 हजार रुपये दिए.

छापरी और पलासीकलां में चौपाल की गई आयोजित
बुधनी विधानसभा के नसरुल्लागंज जनपद की ग्राम पंचायत छापरी और पलासीकलां में चौपाल आयोजित की गई. चौपाल में कलेक्टर प्रवीण सिंह और कार्तिकेय चौहान ने गांव वालो की समस्याएं सुनी और उनका मौके पर ही निराकरण किया. ग्राम पंचायत छापरी में आयोजित चौपाल में आई दिव्यांग रितुबाई और उनके पति भाग सिंह के चेहरे पर उस समय खुशी देखते ही बनती थी, जब कलेक्टर प्रवीण सिंह और कार्तिकेय चौहान ने चौपाल में उनका स्वयं का पक्का मकान बनाने में सहयोग करने की बात कही. दिव्यांग भाग सिंह और रितुबाई खेत पर छोटी सी टपरिया में रहते हैं. उन्होंने चौपाल में कलेक्टर सिंह को बताया कि उनके पास रहने के लिए घर नहीं है और तीन बच्चों के साथ खेत की छोटी सी टपरियां में रहकर गुजर-बसर करना बहुत मुश्किल होता है. इस पर कलेक्टर सिंह ने उनसे कहा कि हम सब मिलकर आपका घर बनवाएंगे. इसके बाद रितुबाई के मकान के लिए तुंरत जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों द्वारा राशि एकत्र की गई.

जन सहयोग से बनेगा दिव्यांग का घर
दिव्यांग रितुबाई और भाग सिंह के मकान निर्माण के लिए कलेक्टर प्रवीण सिंह ने 25 हजार, कार्तिकेय चौहान ने 25 हजार, सुनील बारेला ने 20 हजार, नसरूल्लागंज मंडल अध्यक्ष श्याम सिंह ठाकुर ने 20 हजार, धीरज पटेल ने 10 हजार, छापरी सरपंच अवध पटेल ने 5 हजार और एसडीएम बृजेश सक्सेना ने 10 हजार रूपये का सहयोग दिया. इस सहयोग से भावविहल होते हुए भाग सिंह और रितुबाई ने कलेक्टर प्रवीण सिंह, कार्तिकेय चौहान सहित सभी सहयोगकर्ताओं का हृदय से आभार किया व्यक्त किया. साथ ही उन्होंने कहा कि आपके द्वारा किए गए सहयोग से अब हमारा भी पक्के मकान में रहने का सपना पूरा होगा.

साकार हो रही सीएम की मंशा
वहीं चौपाल में कार्तिकेय चौहान ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मंशा है कि गांव वालो की समस्याओं का गांव में ही पहुंचकर निराकरण किया जाए, ताकि उन्हें भोपाल तक अपनी शिकायत भेजनी ही न पड़े. उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में चौपाल लगाकर गांव वालो की शिकायतों का निराकरण करना कलेक्टर सिंह की सराहनीय पहल है. इससे गांव वालो की शिकायतों का गांव में ही निराकरण हो रहा है और गांव के अनेक विकास कार्यों को चौपाल में ही स्वीकृति भी दी जा रही है.

चौपाल में इन कार्यो की दी स्वीकृति
ग्राम पंचायत छापरी में आयोजित चौपाल में अनेक निर्माण कार्यों की स्वीकृति दी गई. इस मौके पर कलेक्टर सिंह ने कहा कि आवास प्लस के हितग्राहियों के मकानों की स्वीकृति की कार्यवाही शीघ्र की जाए. इसके साथ ही आवास प्लस के तहत रिजेक्ट किए गए मकानों को भी शीघ्र स्वीकृत किया जाए. उन्होंने कहा कि गांव में गरीबी रेखा के नीचे आने वाले सभी पात्र हितग्राहियों के बीपीएल कार्ड बनाए जाएं, ताकि उन्हें शासन की योजनाओं का लाभ मिल सके. चौपाल में ग्रामवासियों ने कलेक्टर सिंह से गांव में बच्चों के लिए आंगनवाड़ी भवन बनवाने की मांग की. इस पर उन्होंने आंगनवाड़ी भवन बनवाने की स्वीकृति दे दी. गांव वालो ने कलेक्टर सिंह से गांव में स्टॉपडेम बनवाने के लिए भी कहा. इस पर कलेक्टर सिंह ने ड्ब्ल्यूआरडी के अधिकारी को स्टॉपडेम के लिए आंकलन कर प्रस्ताव बनाने के निर्देश दिए. उन्होंने गांव में कबड्डी खिलाड़ियों के लिए मैट प्रदान करने के लिए भी कहा. साथ ही गांव में शमशान घाट के निर्माण कार्य के भी निर्देश दिए.

एक फरवरी से शुरु होगा सुरक्षित सीहोर अभियान
ग्राम पंचायत छापरीऔर पलासीकलां में आयोजित चौपाल के दौरान कलेक्टर प्रवीण सिंह ने सभी ग्रामवासियों से प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत अपना बीमा कराने की अपील की. उन्होंने कहा कि एक फरवरी से सुरक्षित सीहोर अभियान चलाया जाएगा. इस अभियान के तहत सभी ग्रामीण क्षेत्रों में कैम्प लगाकर ग्रामवासियों का बीमा किया जाएगा. उन्होंने कहा कि 20 रूपये की छोटी सी राशि से बीमा कराने पर आपके परिवार को बुरे वक्त में मदद मिलती है. इसलिए सभी ग्रामवासी कैम्प में आवश्यक दस्तावेज लेकर पहुंचे और अपना बीमा अवश्य कराएं.