Monsoon Session 2020: संसद के मानसून सत्र में पेश किए जाएंगे तीन लेबर कोड बिल

0
290

नई दिल्ली। श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने मंगलवार को बताया कि इंडस्टि्रयल रिलेशन, सामाजिक तथा पेशेवर सुरक्षा एवं स्वास्थ संबंधी शेष तीन लेबर कोड बिल को संसद के मानसून सत्र में पेश किया जाएगा।

भारतीय वाणिज्य एवं उद्योग महासंघ (FICCI) की तरफ से ‘वेतन कानून : लाखों आवश्यक सेवा कर्मचारियों के अधिकारों की सुरक्षा’ विषयक वेबिनार में गंगवार ने कहा, ’14 सितंबर को शुरू होने वाले संसद के मानसून सत्र में तीनों लेबर कोड बिल को रखा जाएगा। हमने वेतन कानून के प्रारूप का वितरण कर दिया है और जल्द ही इसे अंतिम रूप दिया जाएगा।’ मंत्री ने फिक्की से श्रम कानूनों और खासकर वेतन कानून के संबंध में सुझाव देने का आह्वान किया।

केंद्र सरकार 44 केंद्रीय श्रम कानूनों को संक्षिप्त करके चार में समाहित करने का प्रयास कर रही है। इनमें वेतन, इंडस्टि्रयल रिलेशन, सामाजिक सुरक्षा तथा पेशेवर स्वास्थ्य एवं सुरक्षा कोड शामिल हैं। वेतन को छोड़कर बाकी तीनों लेबर कोड को पिछले साल लोकसभा में पेश किया गया था, जिसे बाद में श्रम मामलों की संसद की स्थायी समिति के पास भेज दिया गया था। समिति ने अपनी रिपोर्ट सौंप दी है।

14 सितंबर से शुरू होगा सत्र

बता दें कि इस बार का मानसून सत्र 14 सितंबर से शुरू होगा और एक अक्टूबर को समाप्त होगा। सूत्रों का कहना है कि मानसून सत्र इस बार दो शिफ्ट (सुबह और शाम) में हो सकता है। वैश्विक महामारी कोविड-19 के चलते संसदीय इतिहास में यह सत्र कई बदलावों के कारण अपनी तरह का पहला सत्र होगा।

लोक सभा स्पीकर ओम बिड़ला ने स्पष्ट किया है कि सांसदों के अलावा जितने भी लोग संसद परिसर में प्रवेश करेंगे, उन सभी का सत्र शुरू होने से पहले कोरोना का टेस्ट कराया जाएगा। इसमें मंत्रालयों के अधिकारियों से लेकर मीडिया के लोग, लोकसभा और राज्यसभा सचिवालय के कर्मचारी सभी शामिल हैं। जरूरत पड़ी तो सत्र चलने के दौरान भी कोरोना संक्रमण की रैंडम टेस्टिंग भी कराई जाएगी।