विदेश राज्यमंत्री ने कहा- यूएन में स्थायी सीट के लिए भारत को मिला चार स्थायी सदस्यों का समर्थन

0
425

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने सोमवार को लोकसभा को बताया कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) में स्थायी सीट पाने के भारत के दावे का वैश्विक संस्था के चार स्थायी सदस्यों ने समर्थन किया है। यूएनएससी में वीटो अधिकार वाले कुल पांच स्थायी सदस्य हैं, जिनमें अमेरिका, रूस, फ्रांस, ब्रिटेन और चीन शामिल हैं।

यूएनएससी में स्थायी सीट पाने के भारत के दावे का चार स्थायी सदस्यों ने किया समर्थन

लोकसभा में एक सवाल के लिखित जवाब में विदेश राज्यमंत्री वी. मुरलीधरन ने कहा कि विस्तारित यूएनएससी में स्थायी सदस्यता हासिल करना भारत की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में शामिल है। उन्होंने कहा कि यूएनएससी के पांच में से चार स्थायी सदस्यों ने भारत के स्थायी सीट के दावे का समर्थन किया है। हालांकि, उन्होंने समर्थन करने वाले देशों के नाम नहीं बताए।

अफगान में भारतीयों को निशाना बना रहा पाकिस्तान

विदेश राज्यमंत्री ने सदन को बताया कि अफगानिस्तान में विकास परियोजनाओं में काम करने वाले भारतीय पेशेवरों को पाकिस्तान विभिन्न तरीकों से निशाना बना रहा है। कभी उन पर हमला किया जाता है तो कभी उनका अपहरण। पाकिस्तान ने चार भारतीयों को संयुक्त राष्ट्र की अंतरराष्ट्रीय आतंकियों की सूची में शामिल कराने की कोशिश, लेकिन संस्था की मंजूरी समिति ने उसके अनुरोध को खारिज कर दिया।

सीबीआइ में 1,329 पद रिक्त

संसद के निचले सदन को कार्मिक राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह बताया कि केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआइ) में विभिन्न श्रेणी के 1,329 पद रिक्त पड़े हैं। जांच एजेंसी में कुल मंजूर पदों की संख्या 7,273 है। इनमें से 5,944 पदों पर ही तैनाती है।

रेलवे में खलासियों से दु‌र्व्यवहार की शिकायत नहीं

लोकसभा में रेल मंत्री पीयूष गोयल ने एक लिखित जवाब में बताया कि रेलवे में 4,227 टेलीफोन सहायक सह डाक खलासी हैं, इन्हें अधिकारियों के बंगलों पर तैनात किया जाता है। गोयल ने कहा कि अधिकारियों द्वारा खलासियों के साथ खराब व्यवहार करने की शिकायतें नहीं हैं। इनकी नियुक्ति पे लेबल-1 पर होती है, जिसमें हर महीने 18 हजार रुपये और भत्ते दिए जाते हैं।

15.7 करोड़ लोगों के पास आरोग्य सेतु

इलेक्ट्रॉनिक्स एंड सूचना प्रौद्योगिकी राज्यमंत्री संजय धोत्रे ने सदन को बताया कि 15.7 करोड़ से अधिक लोग आरोग्य सुते एप का उपयोग कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आरोग्य सेतु एप पुरी तरह से सुरक्षित है। इसमें यूजर के डाटा की गोपनीयता बनाए रखने के उपाय किए गए हैं।