सियासी हलचल से बढ़ने लगा पूरे UP का राजनीतिक तापमान, SP-कांग्रेस ने भी कसी कमर

0
113

नोएडा । प्रदेश में भले ही हाल फिलहाल कोई चुनाव नहीं है, बावजूद इसके जिले के साथ-साथ पूरे प्रदेश में सियासी हलचल एक बार फिर तेज होने लगी है। केंद्रीय नेतृत्व के आह्वान पर एक ओर जहां कांग्रेस केंद्र व प्रदेश सरकार के खिलाफ देशव्यापी आंदोलन चलाने जा रही है, वहीं सपा ने भी हल्ला बोल की तैयारी शुरू कर ली है। आम आदमी पार्टी जमीन तलाशने की कोशिश में लगातार संगठन विस्तार कर रही है, वहीं भारतीय जनता पार्टी में संगठन चुनाव को लेकर पहले से ही सक्रियता है। अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला भी नवंबर में ही आना है, ऐसे में जिले का सियासी तापमान अभी से बढ़ने लगा है।

कांग्रेसी आज से उतरेंगे सड़कों पर

कांग्रेस महानगर अध्यक्ष शहाबुद्दीन के अनुसार केंद्र व प्रदेश सरकार की नीतियों के खिलाफ 6 नवंबर को सेक्टर 12 सब्जी मंडी में, सात को आरटीओ कार्यालय में पर्चे वितरित किए जाएंगे। आठ और नौ को नुक्कड़ सभा के माध्यम से सरकार पर हल्ला बोलेंगे। 10 को सेक्टर 18 मे थाली बजाओ आंदोलन,11 को मौलाना अब्दुल आजाद की जयंती ,12 और 13 को किसानों की समस्याओं को लेकर चौपाल ,14 को नेहरू जयंती के बाद 15 नवंबर को सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय पर धरना से अभियान समापन होगा।

जमीन तलाश रही आम आदमी पार्टी

आम आदमी पार्टी का वैसे तो जिले में कुछ खास जनाधार नही है। लेकिन, पिछले कुछ दिनों से नेताओं की हलचल अधिक बढ़ गई है। जिलाध्यक्ष भूपेंद्र जादौन कई बैठकें कर चुके हैं। लोगों को पार्टी से जोड़ने के लिए लगातार सदस्यता अभियान चलाया जा रहा है।

सपा की साइकल यात्र की तैयारियां जोरों पर

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने प्रदेश सरकार के खिलाफ पूरे उत्तर प्रदेश में जिला स्तर पर साइकल यात्र शुरू करने का एलान किया है। सभी जिला व महानगर पदाधिकारियों को साइकल यात्र सफल बनाने के लिए अभी से तैयारियों में लग जाने के निर्देश दिए गए हैं। गौतमबुद्ध नगर में पिछले कुछ दिनों में बड़े नेताओं ने पाला बदल लिया, जिसके बाद कार्यकर्ता फिलहाल सुस्त पड़े हैं। अब साइकिल यात्र को लेकर जिलाध्यक्ष वीर सिंह पर कार्यकर्ताओं में जान फूंकने की जिम्मेदारी है। वीर सिंह यादव के अनुसार कार्यकर्ता पूरी तरह से तैयार हैं। साइकिल यात्र की तिथियों की घोषणा होते ही जोर शोर से लग जाएंगे।

11 नवंबर से शुरू होंगे भाजपा में नामांकन

भाजपा में जिला व महानगर अध्यक्ष पद के लिए ताजपोशी की तैयारियां जोरों हैं। संगठन सूत्रों के अनुसार छह नवंबर तक मंडल अध्यक्षों की घोषणा हो जाएगी। 11 व 12 नवंबर को जिला व महानगर अध्यक्ष पद के लिए नामांकन होंगे और उसके बाद 20 नवंबर तक नए पदाधिकारी घोषित कर दिए जाएंगे। दावेदार पिछले एक माह से ही जोरआजमाइश में लगे हुए हैं।

अयोध्या मामले पर सभी पार्टियों की नजर

सबसे बड़ा मुद्दा अयोध्या मामले पर आने वाला सुप्रीम कोर्ट का फैसला है। उम्मीद की जा रही है कि 20 तक कोर्ट इसमें निर्णय सुना देगा। सभी राजनीतिक दलों की निगाहें सुप्रीम कोर्ट के अगले कदम पर लगी हुई हैं। राजनीतिक दलों के साथ साथ जिला प्रशासन और आइबी भी मामले को लेकर सतर्क हैं। पुलिस ने तो थानों में अभी से ही शांति बैठकों का आयोजन भी शुरू कर दिया है।