दिग्विजय ‘विरोधी नेता’ ने मंच पर सिंधिया को दी पर्ची, पढ़कर ज्योतिरादित्य बोले- ये ट्रेलर है फिल्म बाकी

0
125

भोपाल. मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह पर हमला बोलने वाले कमल नाथ के कैबिनेट मंत्री उमंग सिंघार झारखंड विधानसभा चुनाव के सहप्रभारी हैं। वहीं, ज्योतिरादित्य सिंधिया झारखंड विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के स्टार प्रचारक हैं। मंगलवार को ज्योतिरादित्य सिंधिया प्रचार के लिए झारखंड के झारिया विधानसभा सीट पहुंचे थे। यहां उन्होंने कांग्रेस उम्मीदवार पूर्णिमा नीरज सिंह के पक्ष में जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उमंग सिंघार भी मंच पर मौजूद थे और ज्योतिरादित्य सिंधिया ने उमंग सिंघार की जमकर तारीफ भी की। हालांकि इस दौरान सिंधिया ने शायरी भी कही।

सिंधिया ने कहा पिक्चर बाकी है
ज्योतिरादित्य सिंधिया जब मंच से जनसभा को संबोधित कर कर थे उसी दौरान उमंग सिंघार सिंधिया के पास आए और कोई पर्ची रखी। सिंधिया ने पर्जी पढ़ने के बाद कहा- आप चिंता मत करिए मैं उधर आऊंगा। अभी तो ट्रेलर है और आप पिक्चर की बात कर रहे हैं। एक मजेदार बात ये भी ती दी ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपनी चुनावी सभा में भाजपा का एक बार भी नाम नहीं लिया हालांकि केन्द्र सरकार पर हमला जरूर बोला। लेकिन उन्होंने अपनी चुनावी सभा में प्रधानमंत्री नरेन्द्र का भी नाम नहीं लिया और इसके साथ ही उन्होंने झारखंड भाजपा का भी नाम नहीं लिया। अपने भाषण में सिंधिया कांग्रेस सरकार की उपलब्धि बताते रहे।

दिग्विजय ‘विरोधी नेता’ ने मंच पर सिंधिया को दी पर्ची, ज्योतिरादित्य बोले- ये तो ट्रेलर है आप पिक्चर की बात कर रहे हो
दिग्विजय के विवाद के बाद सुर्खियों में आए थे उमंग सिंघार
उमंग सिंघार, मध्यप्रदेश में उस वक्त सुर्खियों में आए थे जब उन्होंने मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम दिग्विजय के खिलाफ खुला हमला बोला था। उमंग सिंघार ने दिग्विजय सिंह की एक वायरल चिट्ठी पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा था कि दिग्विजय को चिट्ठी लिखने की जरूरत नहीं है वो खुद सरकार चला रहा हैं। इसके बाद उन्होंने दिग्विजय सिंह पर एक के बाद कई आरोप लगाए थे।

जांच में दोषी पाए गए थे सिंघार
मध्य प्रदेश सरकार के वन मंत्री उमंग सिंघार केन्द्रीय नेताओं की जांच कमेटी में दोषी पाए गए थे और अब उनके खिलाफ फैसला कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को लेना है। दरअसल, दिग्विजय सिंह और उमंग सिंघार विवाद में कांग्रेस की केन्द्रीय जांच कमेटी ने उन्हें दोषी पाया था। कांग्रेस के केन्द्रीय अनुशासन समिति के अध्यक्ष एके एंटोनी की रिपोर्ट परीक्षण में पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार और शिवराज पाटिल को दोषी पाया था। अब इस मामले में कार्रवाई सोनिया गांधी को करना है।