Income Tax Raid In Chhattisgarh : आयकर छापा पर राजनीतिक वार, कांग्रेस का प्रदर्शन आज

0
148
DJL¸F¼£¹F ¸FÔÂFe ½F Sd½F³ýi ¨FF`¶FZ ¶Fe¨F ¸FZ IY½FFÀFe »F£F¸FF ·Fe ³FªFS AF°FZ SFªF·F½F³F ÀFZ SFª¹F´FF»F ÀFZ d¸F»FIYS d³FIY»F°FZ dW SFªF ·F½F³F ÀFZ ¶FFWS ¦FZMX ´FS

रायपुर। केंद्रीय आयकर अफसरों की टीम द्वारा छत्तीसगढ़ में की गई छापामारी पर राजनैतिक वार-पलटवार शुरू हो गया है। इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में आज बड़ा प्रदर्शन करने जा रहा है। दोपहर 12 बजे आयकर कार्यालय घेरने की तैयारी है। गौरतलबह है कि कल मुख्यमंत्री और मंत्रीमंडल के सदस्यों ने राज्यपाल से मिलकर ज्ञापन सौंपा था। इसके पहले आयकर अफसरों को गंतव्य तक ले जाने वाले किराए की वाहनों पर चालानी कार्रवाई करने को लेकर आरोप-प्रत्यारोप का दौर चला इस बीच आयकर अफसरों की जांच बीते करीब 48 घंटे से अनवरत जारी है। छत्तीसगढ़ में आयकर टीम की अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई के विरोध में कांग्रेस शनिवार को प्रदर्शन करने जा रही है।

प्रदेश महामंत्री शैलेश नितिन त्रिवेदी ने बयान जारी करके कहा है कि मोदी सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार को अस्थिर करने के लिए द्वेषपूर्ण, डर, भय, आतंक और दहशत फैलाने की कार्रवाई की जा रही है। इसका कांग्रेस विरोध करेगी।

कांग्रेसजनों द्वारा शनिवार को दोपहर 12 बजे राजधानी रायपुर के गांधी मैदान से शांतिपूर्ण लेकिन आक्रामक विरोध करने का ऐलान किया गया है। आयकर कार्यालय का घेराव किया जाएगा। घेराव कार्यक्रम में पूरे प्रदेश के कांग्रेस के प्रदेश पदाधिकारी, जिला पदाधिकारी, ब्लॉक पदाधिकारी और कांग्रेस कार्यकर्ता शामिल होंगे।

कांग्रेस के विधायक, नगरीय निकायों में कांग्रेस के निर्वाचित जनप्रतिनिधि और त्रिस्तरीय पंचायती राज संस्थाओं में कांग्रेस के निर्वाचित जनप्रतिनिधि ,कांग्रेस के सभी मोर्चा संगठनों के पदाधिकारी और कार्यकर्ता कांग्रेस के प्रकोष्ठ और विभागों के पदाधिकारी और कार्यकर्ता भाग लेंगे।

आयकर छापे पर भाजपा का पलटवार

इधर,भाजपा प्रवक्ता सच्चिदानंद उपासने ने प्रदेश सरकार द्वारा केंद्र पर लगाये बदले की कार्रवाई के आरोप पर आपत्ति की है। उपासने ने कहा कि कांग्रेस के अध्यक्ष इस छापे का स्वागत करते हुए कथित मलाइदार पोस्ट पर रहे अफसरों पर कार्रवाई पर खुशी जता रहे थे।

आज ऐसा क्या हुआ कि सारी खुशी काफूर हो गयी और पूरी सरकार को राजभवन जाना पड़ा। मुख्यमंत्री का डर आधारहीन है। कभी भी भाजपा सरकार कांग्रेस की तरह प्रतिरोध की कार्रवाई नहीं करती। अगर सीएम के विश्वासी अधिकारी सही होंगे तो उन्हें डरना नहीं चाहिए। अगर गलत होंगे, तो उन्हें कोई बचा भी नहीं पाएगा।

उन्होंने कहा है कि कभी भी आयकर अफसर छापामार कार्रवाई विज्ञापन देकर नहीं करते हैं। छापे के अपने तौर तरीके हैं, जिस पर विभाग ही बेहतर जानकारी दे सकता है। लेकिन छापे के दूसरे दिन जिस तरह से सरकार में बैठे लोगों के चेहरे पर हवाइयां उड़ती दिख रही है, उससे यह तो आशंका प्रबल दिख रही है कि कोई कमजोर नस शायद विभाग के हाथ लगा हो।

प्रदेश में भाजपा सरकार के समय भी आयकर अफसरों एवं अन्य पर रूटीन कार्रवाई करता रहा है, और केंद्र में कांग्रेस की सरकार रही है। फिर भी कभी भाजपा ने कोई हंगामा खड़ा नहीं किया। एकाएक कांग्रेस सरकार के सक्रिय होने पर लगता है कि दाल में कुछ काला जरूर है।

शुक्रवार को पूरे दिन और देर रात तक चली जांच

छत्तीसगढ़ में केंद्रीय आयकर की टीम ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री सचिवालय की उप सचिव सौम्या चौरसिया के घर पर छापा मारा। सौम्या के दुर्ग स्थित घर पर आयकर की टीम सुबह ही धमक गई थी। घर में ताला बंद होने के बाद भी टीम ने दस्तक दी। आयकर की टीम ने दूसरे दिन तीन नए ठिकानों पर कार्रवाई की। इसमें रायपुर में दो और दुर्ग में एक ठिकाने पर कार्रवाई की गई।

आयकर टीम ने ठेकेदार पप्पू बंसल के ठिकाने पर भी कार्रवाई की। आबकारी विभाग के ओएसडी एपी त्रिपाठी के ठिकाने पर छापे के दौरान मिली जानकारी के आधार पर सौम्या के घर टीम पहुंची। ताला बंद होने के कारण सीआरपीएफ और आयकर टीम ने चश्मदीदों के सामने घर का ताला तोड़ा।

इससे पहले गुस्र्वार को आयकर की टीम में सरकार के करीबी माने जाने वाले अफसर पूर्व मुख्य सचिव विवेक ढांड, प्रमुख सचिव अनिल टुटेजा, उनकी पत्नी मीनाक्षी टुटेजा, रायपुर नगर निगम के महापौर एजाज ढेबर, उनके भाई अनवर ढेबर, डॉ ए फरिश्ता, कारोबारी गुस्र्चरण होरा, कमलेश जैन, सीए अजय सिंघवानी, संजय संचेती और बीएसएनलए से प्रतिनियुक्ति पर आए आबकारी विभाग के ओएसडी एपी त्रिपाठी के ठिकानों पर कार्रवाई की थी।

बड़ा खुलासा होने के हैं आसार

हाईप्रोफाइल कार्रवाई में आयकर की टीम दूसरे दिन भी सभी 19 ठिकानों पर जांच करती रही। बताया जा रहा है कि त्रिपाठी के घर से बड़ी मात्रा में नगद और ज्वेलरी बरामद हुई है। त्रिपाठी के घर से बड़ी मात्रा में विदेशों में निवेश के दस्तावेज भी बरामद हुए हैं।

हवाला के माध्यम से अमेरिका और नीदरलैंड में पैसे भेजने की भी जानकारी मिली है। वहीं, एजाज ढेबर और उनके भाई अनवर ढेबर के ठिकानों से भी नगद जब्त किया गया है। इनके घर से शराब और माइनिंग से अवैध तरीके से कराए पैसों और बड़ी मात्रा में जमीन के पेपर भी मिले हैं। आयकर टीम को अनिल टूटेजा और विवेक ढांड के बीच कारोबारी संबंधों के दस्तावेज भी हाथ लगे हैं। शराब और रेल के ठेके दिलाने में इन दोनों अधिकारियों की संलिप्तता सामने आई है।