भारत के ‘मिशन पीओके’ से बौखलाए इमरान खान, फिर निकली धमकी वाली जुबान

0
137

पाकिस्तान को जब से भारत ने बालाकोट वाला सबक सिखाया है, वहां के प्रधानमंत्री इमरान खान हमेशा खौफ़ में नजर आते हैं. सोते-जागते इमरान खान को इस बा​त का डर सताता है कि कहीं भारत हमला तो नहीं कर देगा. पीओके से पाकिस्तान का कब्जा खत्म तो नहीं होने वाला है. ये ही वजह है इमरान खान कभी भारत को परमाणु युद्ध की गीदड़ भभकी देते हैं, कभी दुनिया के सामने भारत ये चार जंग हार चुकी अपनी सेना के दम पर शेर बनने की कोशिश करते हैं.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान इन दिनों चिंतित हैं. इमरान इसलिए चिंतित हैं क्योंकि भारतीय सेना सीजफायर वायलेशन पर पर पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दे रही है. भारतीय सेना के जवाब से पाकिस्तानी सेना को भारी नुकसान हो रहा है. भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई से घबराए हुए इमरान ने कहा है कि वो भारतीय सेना के हमले पर चुप नहीं बैठेंगे.

इमरान ने आज ट्वीट किया, “मैं भारत और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को स्पष्ट करना चाहता हूं कि अगर LoC के पार भारत अपने सैन्य हमले जारी रखता है तो पाकिस्तान मूकदर्शक बना नहीं रहेगा.” भारत की जोरदार कार्रवाई से डरे इमरान ने ट्वीट किया “हमें भारतीय़ सेना के फ्लैग ऑपरेशन से डर लगता है”

दरअसल, इमरान के डर की अपनी वजह है. जिस तरह भारत ने 2020 की शुरुआत से ही आतंकवाद के खिलाफ आक्रामक रुख अपना लिया है. इमरान खान की चिंता बढ़ गई है. भारत के चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ जनरल बिपिन रावत ने भी एलान कर दिया है. आतंकवाद का खात्मा अमेरिका स्टाइल में होना चाहिए यानी भारत आतंकवादियों और अपने दुश्मनों को घर में घुसकर मारने की नीति पर आगे बढ़ चुका है.

भारत के नए सेना प्रमुख भी पाकिस्तान को चेतावनी दे चुके हैं कि अगर पाकिस्तान ने अपनी जमीन से चल रहे भारत विरोधी आतंकी गतिविधियों पर लगाम नहीं लगाई तो उसे गंभीर परिणाम भुगतना पड़ सकता है. भारतीय सेना की आक्रामकता के साथ साथ कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने के फैसले से भी इमरान का डर बढ़ा दिया है. इमरान को लगने लगा धीरे-धीरे भारत पीओके की तरफ बढ़ रहा है. कश्मीर के मुद्दे पर दुनियाभर में बड़ा अभियान चलाने के बाद जिस तरह इमरान खान का मुंह की खानी पड़ी. उसके बाद इमरान खान घरेलू मोर्चे पर भी दबाव में हैं. जनता बेरोजगारी और महंगाई से परेशान है और पाकिस्तान की राजनीति में संजीवनी साबित होने वाले कश्मीर मुद्दे पर भी अब उनके बड़बोले मंत्री भी बयान दे रहे हैं कि कश्मीर मुद्दे को ठीक ढंग से नहीं उठाया गया.

यानि अब इमरान खान के सहयोगी भी मानने लगे हैं कश्मीर पर पाकिस्तान की नीति फेल हो चुकी है. ऐसे में इमरान खान की बौखलाहट बढ़ती जा रही है. इमरान जानते हैं कि इस बार अगर भारतीय सेना ने बड़ी कार्रवाई की तो उनके हाथ से PoK निकल जाएगा. इसलिए वो अतंरराष्ट्रीय समुदाय के सामने आंसू बहाते रहते हैं लेकिन कश्मीर पर पाकिस्तान का प्रोपेगैंडा फेल हो चुका है. अब ये बात खुद पाकिस्तान के नेता भी मान रहे हैं. जैसे-जैसे भारत पीओके पर दबाव बढ़ाएगा. इमरान खान की ये बौखलाहट भी बढ़ती जाएगी.