राहुल गांधी ने की सोमवार तक पूछताछ टालने की मांग, ED को बताई ये वजह

0
193

नेशनल हेराल्ड केस में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ईडी से पूछताछ टालने की मांग की है. सूत्रों के मुताबिक राहुल गांधी ने मां की बीमारी का हवाला दिया है. राहुल गांधी ने मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े मामले में ईडी से अनुरोध कर सोमवार तक का वक्त मांगा है. राहुल गांधी से ईडी ने बुधवार को लगातार तीसरे दिन पूछताछ की थी. पार्टी कार्यकर्ता अलग-अलग राज्यों में विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं.

बता दें कि सोनिया गांधी कोरोना वायरस संक्रमण के कारण अस्वस्थ हैं और फिलहाल सर गंगाराम अस्पताल में भर्ती हैं. वहीं बुधवार को ईडी की पूछताछ खत्म होने के बाद राहुल गांधी अस्पताल गए थे. जहां पर उन्होंने अपनी मां से मुलाकात की. इसी मामले में ईडी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को 23 जून को पेश होने के लिए कहा है.

कार्यकर्ताओं ने काटा था बवाल

बुधवार को प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस कार्यकर्ता भड़क उठे और कई नेता धरने पर बैठ गए थे. कई कार्यकर्ताओं ने जमकर बवाल काटा और ED दफ्तर के बाहर टायर में आग लगा दी थी. राहुल के जरिए कांग्रेस ने बीजेपी पर आरोप लगाया था कि राहुल गांधी पीएम मोदी का मुकाबला कर रहे हैं. इसलिए उन्हें निशाना बनाया जा रहा है. कांग्रेस ने दिल्ली पुलिस पर भी आरोप लगाया था कि कांग्रेस मुख्यालय में दिल्ली पुलिस घुस गई. कांग्रेस इसके लिए FIR की मांग कर रही है, तो वहीं पुलिस इससे इनकार कर रही है. ईडी ने कांग्रेस नेता से मंगलवार को 11 घंटे से अधिक और सोमवार को 10 घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की थी.

क्या है नेशनल हेराल्ड केस

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने इस संबंध में 2013 में एक शिकायत दर्ज कराई थी. स्वामी ने सोनिया गांधी, राहुल गांधी और अन्य पर धोखाधड़ी की साजिश रचने एवं धन के गबन का आरोप लगाया था और दावा किया था कि यंग इंडियन प्राइवेट लिमिटेड ने 90.25 करोड़ रुपये की वसूली का अधिकार प्राप्त करने के लिए केवल 50 लाख रुपये का भुगतान किया, जो एजेएल पर कांग्रेस का बकाया था.