पूर्व CM रमन सिंह ने कहा-भूपेश सरकार ने किसानों को धोखा दिया, प्रदेश में कानून व्यवस्था ठप

0
129

रायपुर. पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह (Raman Singh) ने प्रदेश में धान खरीदी (Paddy Purchase) और कानून व्यवस्था (Law and Order) को लेकर सरकार को आड़े हाथों लिया है. पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था ध्वस्त हो गई है. मुख्यमंत्री नई भूमिका में आ गए हैं. दिल्ली में जाकर केंद्र को सुझाव देते हैं, दूसरे राज्यों में जाकर सुझाव देते हैं, लेकिन अपने राज्य को लेकर क्या कर रहे हैं ? वहीं धान खरीदी के मुद्दे पर उन्होंने भूपेश सरकार (Bhupesh Government) पर किसानों को धोखा (Farmer Cheated) देने का आरोप लगाते हुए कहा कि किसानों को लग रहा है कि उन्होंने अफीम की खेती कर ली है.

सरकार की किसानों की मदद करने की नीयत नहीं

रमन सिंह ने कहा कि पूरे छत्तीसगढ़ में किसान आंदोलित और आक्रोशित हैं. रमन सिंह ने कहा कि 15 साल के दौरान किसानों को कभी भी किसी प्रकार की कोई तकलीफ नहीं हुई. उन्होंने कहा कि इस सरकार के एक साल में ही हाथ पैर फूलने लगे हैं. इस सरकार ने किसानों से बड़े-बड़े वादे किए मगर उसे क्रियान्वित करने के लिए उनके पास ताकत नहीं है. उन्होंने सीधे-सीधे कहा कि भूपेश सरकार की किसानों की मदद करने की नीयत ही नहीं है. पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि बीजेपी का एक-एक कार्यकर्ता किसानों के आंदोलन में उनके साथ खड़ा रहेगा. रमन सिंह ने कहा कि वह खुद भी जाएंगे और किसानों की समस्याएं सुनकर उसके समाधान का प्रयास करेंगे.

लूट, हत्या और बलात्कार की घटनाएं हो रही हैं

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ में कानून-व्यवस्था पूरी तरह बिगड़ी हुई. केवल लूट, हत्या और बलात्कार जैसी घटनाएं घट रही हैं. उन्होंने कहा कि अब छत्तीसगढ़ में अपहरण का नया धंधा हो रहा है. उन्होंने कहा कि देश में एक घटना उन्नाव में और एक घटना हैदराबाद में घटती है तो पूरा देश उद्वेलित होता है. वहीं छत्तीसगढ़ में पिछले 8 से 10 दिन में चार बलात्कार की घटनाएं घटी हैं. ये घटनाएं राजनांदगांव के सालेवारा में, भिलाई, बिलासपुर और बलौदाबाजार के तेंदुआ गांव में घटी. ऐसा पहले कभी छत्तीसगढ़ में नहीं होता था. उन्होंने कहा कि न मुख्यमंत्री बाहर घूम रहे हैं और न ही उनमें कोई संवेदनशीलता है. उन्होंने कहा कि गृह मंत्री के भी बयान नहीं आते हैं और न ही कोई बड़े निर्णय लिए जाते हैं. ये घटनाएं छत्तीसगढ़ पुलिस की स्थिति दिखाती है कि अपराधियों का मनोबल कितना बढ़ा हुआ है.