आईफा अवार्ड पर चली वित्त की कैंची, उठाया ऐतराज

0
278

मध्यप्रदेश को बूस्टअप देने वाले आईफा अवार्ड का खर्च फिलहाल वित्त के फेर में उलझ गया है। वित्त विभाग ने आईफा अवार्ड के खर्च पर भी कैंची चला दी है। पर्यटन विभाग ने आईफा अवार्ड में प्रदेश की ब्रांडिंग के लिए विज क्रॉफ्ट कंपनी को 32 करोड़ रुपए देना प्रस्तावित किए थे, लेकिन वित्त ने इस पर ऐतराज उठा दिया। अभी यह फाइल इसी में उलझी है। वित्त विभाग का कहना है कि प्रदेश की ब्रांडिंग के लिए पूरे वर्ष में आधा दर्जन से अधिक विदेश दौरे और रोड शो करने पर 50 करोड़ रुपए खर्च आता है। ऐसे में मात्र दो दिन के आयोजन में ब्रांडिंग के नाम पर इतनी बड़ी राशि खर्च करना व्यवहारिक नहीं है।

आईफा अवार्ड कराने वाली आयोजक विज क्रॉफ्ट ने पर्यटन विभाग को प्रस्ताव देकर कहा है कि वे 30 सेकंड की फिल्म अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर दिखाकर प्रदेश की ब्रांडिंग करेंगे।

इसे देश और विदेशों के चैनल पर भी दिखाया जाएगा। इसके लिए कंपनी ने सरकार से 32 करोड़ रुपए मांगे हैं। इधर वित्त विभाग का कहना है कि सरकार कंपनी को इंदौर में आने वाले सितारों और वीवीआईपी को ठहरने, आने-जाने के लिए लग्जरी वाहन और प्रोटोकॉल की मुफ्त व्यवस्था उपलब्ध करा सकती है। वित्त ने ये भी कहा है कि केन्द्र सरकार ने बजट में 14 हजार करोड़ रुपए की कटौती कर दी है। ऐसे में सरकारी खजाने से प्रदेश की ब्रांडिंग के लिए इतनी बड़ी राशि देना संभव नहीं है। वित्त विभाग की आपत्ति के बाद ये मामला अब मुख्यमंत्री के पास भेजा जा रहा है।

आईफा अवार्ड का समारोह सीएम कमलनाथ अपने संबंधों के आधार पर मध्यप्रदेश के लिए लाए हैं। इस कारण इस समारोह को लेकर कमलनाथ खुद मानीटरिंग कर रहे हैं। ऐसे में वित्त के ऐतराज के बाद फाइल सीएम के पास जाएगी।

इसलिए अंत में इस खर्च को मंजूरी मिल सकती है, क्योंकि आईफा का ब्रांड-कवरेज 25 से ज्यादा बड़े देशों तक फैला है। मध्यप्रदेश के लिए यह समारोह करना बड़ी उपलब्धि है, जिसके चलते इस समारोह पर सरकार खासी रकम खर्च करेगी।

700 करोड़ को रेवेन्यु फ्लो-

आईफा अवार्ड के मध्यप्रदेश में होने के कारण करीब 700 करोड़ रुपए का रेवेन्यु-फ्लो मध्यप्रदेश में होगा। इस अवार्ड के कारण होटल्स, टूरिज्म, ट्रेवल्स, फूड, पब्लिकेशन, ब्राडिकास्टिंग, फिल्म-टीवी इंड्रस्टी सहित अन्य कनेक्टेड सेक्टर में रोजगार जनरेट होगा, जिससे मनी-फ्लो होगा। इस कार्यक्रम का 25 से ज्यादा देशों में प्रसारण भी होगा। इस दौरान नेशनल व इंटरनेशनल स्तर के सभी बड़े कलाकार जुटेंगे। इस कारण 700 करोड़ रुपए का फ्लो इस दौरान होने का अनुमान लगाया गया है।