फडणवीस ने दिया शिवसेना को चैलेंज, कहा- हिम्मत है तो फिर से चुनाव करवा लीजिए, गठबंधन को हरा देंगे

0
140

मुंबई: महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने रविवार को शिवसेना को राज्य में फिर से चुनाव करवाने की चुनौती दी. फडणवीस ने दावा किया कि उनकी पार्टी सत्तारूढ़ महागठबंधन को हरा देगी. फडणवीस ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे पर भी जमकर निशाना साधा. फडणवीस ने कहा कि उद्धव ठाकरे ने बाला साहेब को वचन दिया था कि मुख्यमंत्री शिवसेना का होगा, लेकिन क्या वो मुख्यमंत्री कांग्रेस पार्टी की मदद से होगा? शिवसेना प्रमुख बाला साहेब ठाकरे आज जिंदा होते तो उन्हें माफ नहीं करते.

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा मैं शिवसेना को चुनौती देता हूं कि अगर आप इतने ही विश्वस्त हैं तो फिर से चुनाव करवा लीजिए. बीजेपी, महागठबंधन की तीनों पार्टियों कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना को हरा देगी.”

फडणवीस ने कहा, ‘अभी लड़ना है और विरोधी पक्ष की भूमिका को पूरी ताकत के साथ दिखाना है.’ फडणवीस ने कहा कि CAA के बारे में लोगों को बताइए. किसी की मत सुनिए. इसके अलावा फडणवीस ने मांग की कि कांग्रेस पार्टी की तरफ से जारी की गई शिदोरी बुक में वीर सावरकर के बारे में गलत बातें लिखी गई हैं, उस किताब पर सरकार पाबंदी लगाए.

इसके अलावा बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) ने आज महाराष्ट्र के नवी मुंबई में पार्टी के राज्यव्यापी अधिवेशन में शिवसेना पर निशाना साधा. उन्होंने कहा, ‘शिवसेना (Shiv Sena) ने व्यक्तिगत स्वार्थ के लिए बीजेपी के साथ गठबंधन तोड़ा और जनादेश का अपमान कर कांग्रेस-एनसीपी के साथ मिलकर सरकार बनाई.’

नड्डा ने शिवसेना के कांग्रेस और एनसीपी के साथ गठबंधन को अवास्तविक और अप्राकृतिक बताया. नड्डा ने महाराष्ट्र के सीएम और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे पर निशाना साधते हुए कहा कि सावरकर पर टिप्पणी होगी और राजा मूकदर्शक होगा. शिवाजी पर टिप्पणी होगी और राजा मूकदर्शक होगा. नड्डा ने कार्यकर्ताओं से कहा कि सत्ता के लिए हमने अपनी विचारधारा को नहीं बदला है. अगला चुनाव बीजेपी के लिए एकतरफा होगा और यह चुनाव बीजेपी Vs ऑल पार्टी होगा. नड्डा ने सीएए पर “नागरिकत्व सुधारणा कायदा- 2019 भ्रम और वास्तव” नाम की किताब का लोकार्पण किया.

नड्डा ने कहा, ‘जिसकी कल्पना नहीं थी वह काम पीएम मोदी ने किया. उन्होंने धारा 370 को हटाया. पहले धारा 370 की आड़ में वहां की पार्टियां, मुख्यधारा में आने में जम्मू कश्मीर को रोकते थे.’ नड्डा ने कहा, ‘पुंछ, राजोरी, लद्दाख, में आदिवासी क्षेत्र के प्रतिनिधि अब लोकसभा और विधानसभा में प्रतिनिधित्व करेंगे. पहले धारा 370 की वजह से नहीं होते थे.’ नड्डा ने कहा, ‘हम सती प्रथा, दहेज प्रथा बंद कर सकते हैं तो ट्रिपल तलाक को खत्म करना हमारी जिम्मेदारी थी.’

नड्डा ने सीएए पर भी बयान दिया. उन्होंने कहा, ‘CAA में कौन सी तकलीफ है. कोई नहीं बता सकता क्या तकलीफ है. हमारे लिए देश पहले है. वोट बैंक नहीं. दूसरों की तरह हम काम नहीं करते.’ उन्होंने कहा, ‘पीएम मोदी के नेतृत्व में देश को 5 ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी बनाएंगे.’

नड्डा ने कहा, ‘बीजेपी कोई टोला या कुनबा नहीं है बल्कि संगठन है. इसके अलावा 59 क्षेत्रीय पार्टी हैं, 7 राष्ट्रीय पार्टी हैं, सभी पार्टी वंशवाद से प्रेरित हैं और हम अपने विचारों से प्रेरित हैं. बीजेपी एक परिवार है. बाकी जगह पार्टी परिवार है.’ नड्डा ने कहा, ‘एनसीपी, शिवसेना, समाजवादी पार्टी, बीएसपी, डीएमके और कांग्रेस की कमान कौन संभालेगा, ये जगजाहिर है. लेकिन बीजेपी में कौन अध्यक्ष बनेगा ये नहीं बता सकता. मुझ जैसा व्यक्ति राष्ट्रीय अध्यक्ष बना, ये बीजेपी में ही हो सकता है.’