भारत दौरे पर डोनाल्ड ट्रंप अपने साथ लाएंगे ये खास फुटबॉल, पूरी दुनिया खाती है इससे खौफ

0
166

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप 24 फरवरी को भारत के दौरे पर अहमदाबाद पहुंचेंगे तो उनके साथ चल रहे सीक्रेट सर्विस के एजेंटों के हाथ में मौजूद डोनाल्ड ट्रंप के न्यूक्लियर फुटबॉल पर सबकी निगाहें टिकी रहेंगी. ट्रंप जब भी व्हाइट हाउस से बाहर निकलते हैं, तो उनके साथ ये खास फुटबॉल भी चलता है. आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि आखिर इस फुटबॉल में ऐसा क्या है, जिससे सारी दुनिया खौफ खाती है.

दुनिया के सबसे ताकतवर मुल्क अमेरिका के सबसे सबसे ताकतवर इंसान यानी अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनलड ट्रंप जब चाहें पूरी दुनिया की तबाही का बटन दबा सकते हैं. फिर चाहें डोनाल्ड ट्रंप अमेरिका मे हों या चीन में हों. ब्रिटेन में हों या फिर हिंदुस्तान में हों. यानि 24 फरवरी को जब अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अहमदाबाद पहुंचेंगे तो उनके साथ उनका न्यूक्लियर तबाही वाला बटन भी मौजूद रहेगा जिसके जरिये वो दुनिया के किसी भी कोने में तबाही ला सकते हैं.

अब आप अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ हमेशा मौजूद रहने वाले सीक्रेट सर्विस के एजेंट्स के हाथ में ब्रीफकेस रहता है. इस ब्रीफकेस में ही छिपी है अमेरिका के राष्ट्रपति की वो शक्ति जिसके जरिये वो दुनिया में तबाही ला सकते हैं. चलिए अब आपको बताते हैं आखिरकार क्या है न्यूक्लियर फुटबाल जिससे सारी दुनिया खौफ खाती है और जिसकी चर्चा हर उस जगह शुरू हो जाती है जहां ट्रंप पहुंचने वाले होते हैं.

ट्रंप का न्यूक्लियर फुटबॉल एक ब्रीफकेस है. चमड़े से बना काले रंग का यह टॉप सीक्रेट ब्रीफकेस दुनिया का सबसे शक्तिशाली ब्रीफकेस माना जाता है. इसमें अमेरिका के परमाणु बम हमले के लॉन्‍च कोड समेत चार चीजें होती हैं. इसलिए इस ब्रीफकेस को न्‍यूक्लियर फुटबॉल कहा जाता है. लॉन्‍च कोड के अलावा ब्रीफकेस के अंदर अमेरिका के परमाणु हमले की पूरी योजना टारगेट की पूरी जानकारी सारी जानकारियां इसके अंदर एक किताब में रूप में लिखी होती है. 75 पन्‍नों की काले रंग की किताब कुछ उसी तरह से होती है जैसे किसी रेस्‍त्रां का मेन्‍यू कार्ड होता है. इस ब्रीफकेस के जरिये अमेरिका का राष्ट्रपति किसी भी क्षण दुनिया के किसी भी हिस्से में परमाणु हमला करने का फैसला ले सकता है. मतलब साफ है कि अगर ट्रंप अमेरिका से बाहर हैं तो भी कोई अमेरिका के दुश्मन का काम तमाम करना उसके बाएं हाथ का खेल है.

ट्रंप के इस ब्रीफकेस में ऐसी तमाम चीजें मौजूद होती हैं जो उनको किसी मुश्किल वक्त में बचाने का भी दम रखती हैं. दुनिया के सबसे शक्तिशाली ब्रीफकेस यानी ट्रंप के न्यूक्लियर फुटबॉल में एक और काली किताब होती है जिसमें किसी हमले की सूरत में छिपने के ठिकाने के बारे में पूरी जानकारी होती है. ट्रंप के इसी ब्रीफकेस के अंदर एक आपातकालीन ब्राडकॉस्‍ट सिस्‍टम भी होता है. ब्रीफकेस के अंदर एक एंटेना लगा संचार उपकरण होता है जिससे ट्रंप दुनिया के किसी कोने से कहीं भी बात कर सकते है. किसी खतरे की सूरत में अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप यह फैसला करेंगे कि कहां पर परमाणु बम गिराना है. उनकी ब्‍लैक बुक में पूरी दुनिया का नक्‍शा भी बना होता है और इस नक्शे के जरिए अमेरिका के राष्ट्रपति तय करते हैं कि अमेरिका को किस जगह को तबाह करना है.

चलिए अब आपको बताते हैं ट्रंप के खास बिस्किट के बारे में जिसके बगैर अमेरिकी राष्ट्रपति परमाणु हमले का आदेश दे ही नहीं सकते. न्‍यूक्लियर फुटबॉल के अंदर 3 से 5 इंच लंबा एक कार्ड होता है जिसमें परमाणु बम हमले की पुष्टि करने वाले कोड लिखे होते हैं. देखने में क्रेडिट कार्ड लगने वाले इसी कार्ड को ‘बिस्किट’ कहा जाता है. इस बिस्किट में 5 अलार्म लगे होते हैं और अगर यह खो जाता है तो उसे बजाया जाता है.

यानी इन बिस्किट को संभालकर रखना अमेरिका के राष्ट्रपति के लिए बेहद जरूरी है. अमेरिका दुनिया के तमाम कोनों में जंग लड़ रहा है. दुनिया के सबसे ताकतवर मुल्क के न तो दोस्तों की कमी है, न ही दुश्मनों की. ऐसे में अमेरिका के राष्ट्रपति 24 इनटू सेवन परमाणु हमले का आदेश देने और अमेरिका की सेना 24 इनटू सेवन दुनिया के किसी भी कोने में तबाही मचाने के लिए तैयार रहती है.