झाबुआ पहुंचे सीएम शिवराज सिंह चौहान, विकास कार्यों की दी सौगात

0
290

झाबुआ। सीएम शिवराज सिंह चौहान जनजातीय सम्मेलन में हिस्सा लेने झाबुआ पहुंचे। वे यहां विकास कार्यों की सौगात देने के साथ जनजातीय भाइ-बहनों से संवाद भी करेंगे। सभा के पूर्व ही जोबट की पूर्व विधायक सुलोचना रावत व उनके पुत्र विशाल रावत मंच पर मौजूद हैं। हाल ही में दोनों भाजपा में शामिल हुए हैं। माना जा रहा है कि रावत परिवार से ही जोबट विधानसभा उपचुनाव में भाजपा अपने उम्मीदवार का चयन करने जा रही है और इसी शर्त पर रावत परिवार ने भाजपा का हाथ थामा है।

अपने संबोधन में सीएम ने कहा कि आज मैं कहने आया हूं कि आज का यह कार्यक्रम सिर्फ कार्यक्रम नहीं है। यह गरीब ट्राइबल की जिंदगी बदलने का अभियान आज से प्रारंभ हो रहा है।

शिवराज ने कहा कि आदरणीय स्व. दिलीप सिंह भूरिया जी के चरणों में प्रणाम करता हूं। उनका पेसा एक्ट बनाने में बहुत योगदान है, मैं इसे मध्यप्रदेश की धरती पर जनजातियों के कल्याण के लिए लागू कर रहा हूं।

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि हम राशन आपके द्वार योजना चलाएंगे। गाड़ियों में राशन आपके गांव आएगा।आदिवासी नौजवान ही गाड़ी का मालिक होगा। हम बैंक की गारंटी लेंगे, बैंक गाड़ी के लिए फाइनेंस करेगा। 26 हजार रु महीना देंगे, 10 हजार रु. में गाड़ी की क़िस्त निकलेगी, 16 हजार रु में राशन बांटेगा और रोजगार भी मिल जाएगा।

उन्‍होंने कहा कि हमारी परम्पराओं और संस्कृति को बढ़ावा देने में हम कोई कोर कसर नहीं छोड़ेंगे। हमारी संस्कृति में आनंद है। हर साल धूमधाम से झाबुआ उत्सव मनाया जाएगा, जहां बेटे-बेटी और कलाकारों को प्रदर्शन का पूरा अवसर मिलेगा।

सीएम ने जनजातीय कार्यक्रम के अवसर पर जनजातीय भाई-बहनों के साथ पारंपरिक नृत्य में भागीदारी की।

इस अवसर पर सीएम चौहान ने कहा कि जनजातीय संस्कृति का हिस्सा बनकर मन प्रसन्नता से भर गया।वह हमेशा इसी तरह मुस्कुराते,गाते रहें। पूरे ट्राइबल क्षेत्र में (जहां चुनाव हैं, वहां छोड़कर) 7 तारीख से अभियान चलाकर नामांतरण और बँटवारा करवा दिया जाएगा। गरीब आदिवासी भाई-बहनों को न्याय मिलेगा।

सीएम ने कहा कि कई जगह लोगों ने बताया कि एक घर में कई परिवार रह रहे हैं। रहने की जगह नहीं है। हमारी सरकार ने तय किया है कि परिवार का मतलब पति-पत्नी और बच्चे। एक यूनिट। जिनके घर में एक से ज्यादा परिवार रह रहे हैं, उनको प्लाट देकर अलग से जमीन का मालिक बनाऊंगा।