मुख्यमंत्री कमलनाथ बोले- कैलाश विजयवर्गीय तय करें वह BJP के नेता हैं या माफियाओं के

0
122

छिंदवाड़ा: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) रविवार को अपने दो दिवसीय दौरे पर छिंदवाड़ा पहुंचे. इमलीखेड़ा एयर स्ट्रिप पर मुख्यमंत्री ने पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijavargiya) के ‘इंदौर जला दूंगा’ वाले बयान की तीखे शब्दों में आलोचना की. मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि कैलाश विजयवर्गीय स्वयं तय कर लें कि वह भारतीय जनता पार्टी के नेता बना रहना चाहते हैं या माफियाओं के.

इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में यूरिया का संकट केंद्र की मोदी सरकार द्वारा पैदा किया गया है, केंद्र की गलत नीतियों के कारण मध्य प्रदेश के किसान परेशान हो रहे हैं. इससे पहले सतना के बीटीआई मैदान में ‘संविधान बचाओ रैली’ को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि मध्य प्रदेश के सभी किसानों का कृषि ऋण माफ किया जाएगा.

उन्होंने नागरिक संशोधन कानून (CAA) पर केन्द्र की मोदी सरकार को घेरते हुए कहा कि यह जनता को परेशान करने वाला कानून है. कमलनाथ ने कहा कि केन्द्र सरकार इस कानून के जरिए लोगों से हिन्दू होने का प्रमाण मांगेगी और जो लोग नहीं दे पाएंगें, उन्हें डिटेंशन कैंप में भेज दिया जाएगा. उन्होंने पूर्ववर्ती ​शिवराज सिंह सरकार को महज घोषणाएं करने वाली सरकार बताया.

कमलनाथ ने कहा, ‘पूर्ववर्ती भाजपा सरकार किसानों और बेरोजगारों के संबंध में सोचती तक नहीं थी, लेकिन अब प्रदेश में काम करने वाली सरकार है. हमारी सरकार ने एक साल के भीतर बहुत काम किए हैं. उन्होंने सतना में कई विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास भी किया.’ गौरतलब है कि भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने दो दिन पहले गुस्से में आकर एक विवादित बयान दे दिया था, जिसमें उन्होंने इंदौर में आग लगा देने की बात कही थी.

इस मामले में मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने ​कैलाश विजयवर्गीय समेत भाजपा के 350 कार्यकर्ताओं पर एफआईआर दर्ज कर दिया. भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने कैलाश विजयवर्गीय और पार्टी कार्यकर्ताओं पर एफआईआर दर्ज करने को लेकर कांग्रेस सरकार पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कमलनाथ सरकार पर जानबूझकर भाजपा कार्यकर्ताओं को निशाना बनाने का आरोप लगाया.

उन्होंने कहा कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार बेगुनाहों पर अत्याचार कर रही है. फिर वो चाहे किसानों पर हो या फिर युवाओं पर. राकेश सिंह ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता तो कांग्रेस के निशाने पर हैं. चुन-चुन कर माफिया उन्मूलन के नाम पर केवल बीजेपी के कार्यकर्ताओं को निशाना बनाया जा रहा है. उन्होंने कहा, ‘भारतीय जनता पार्टी शांत बैठने वाली नहीं है. हमारा जन जागरण अभियान चल रहा है. इस अभियान के साथ-साथ हम मध्य प्रदेश सरकार के खिलाफ भी मोर्चा खोलेंगे.’