कुछ ही देर में शुरू होने जा रही है मध्य क्षेत्रीय परिषद की बैठक, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह पहुंचे रायपुर

0
130

रायपुर। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में मध्य क्षेत्रीय परिषद की 22वीं बैठक अब से कुछ देर में राजधानी रायपुर में आयोजित होने वाली है। बैठक में केंद्रीय गृहमंत्री सहित चार राज्यों के मुख्यमंत्री शामिल हो रहे हैं। इस बैठक में शामिल होने के लिए राज्यों के मुख्यमंत्री रायपुर पहुंच रहे हैं। इस क्रम में मध्यप्रदेश के सीएम कमलनाथ और उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ कुछ देर पहले ही रायपुर पहुंचे। यहां स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट पर सीएम भूपेश बघेल ने उनका स्वागत किया। उत्तराखंड के सीएम टीएस रावत सोमवार की शाम को ही रायपुर पहुंच चुके हैं। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह भी बैठक में शामिल होने के लिए रायपुर पहुंच चुके हैं। एयरपोर्ट पर सीएम भूपेश बघेल ने उनका आत्मीय स्वागत किया। अब से कुछ देर में मध्य क्षेत्र परिषद की बैठक नवा रायपुर में शुरू होगी।

दोपहर 11 से 3 बजे तक इस बैठक में स्थानीय मुद्दों पर चर्चा होनी है, लेकिन बैठक करीब 1 घंटे देरी से शुरू हुई। इस बैठक के दौरान चार घंटों तक अंतरराज्यीय मुद्दों पर चर्चा की जाएगी। इसके बाद गृहमंत्री अमित शाह दोपहर तीन बजे से ढाई घंटे तक भाजपा कार्यकर्ताओं से प्रदेश कार्यालय कुशाभाऊ ठाकरे परिसर में सीधा संवाद करेंगे।

बैठक में छत्तीसगढ़ सहित उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड और मध्यप्रदेश के दो-दो मंत्री, मुख्य सचिव और वरिष्ठ विभागीय अधिकारी शामिल होंगे। प्रत्येक राज्य से 10 से 12 अधिकारियों का दल बैठक में शामिल होगा।

नक्सलवाद सहित इन मुद्दों पर होगी चर्चा

बैठक में अंतरराज्यीय 30 बिंदुओं को एजेंडे में शामिल किया गया है। इसमें नक्सलवाद के साथ आंतरिक सुरक्षा के मुद्दे पर मंथन किया जाएगा। इसके के साथ खाद्यान्न् सुरक्षा, सड़क कनेक्टिविटी, कृषि के क्षेत्र में राज्यों से समन्वय और आइटी सेक्टर को लेकर विचार-विमर्श किया जाएगा।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सोमवार को बैठक की तैयारियों की समीक्षा की। इसमें आदिवासी क्षेत्रों के विकास के लिए सड़क और मोबाइल कनेक्टिविटी का प्रस्ताव भी सौंपा जाएगा।

मुख्यमंत्री बघेल हैं परिषद के उपाध्यक्ष

मध्य क्षेत्रीय परिषद का गठन केंद्र सरकार और परिषद में शामिल राज्यों के समन्वय से इन राज्यों में संतुलित सामाजिक-आर्थिक विकास के साथ अन्तरराज्यीय समस्याओं को हल करने के उद्देश्य से एक उधा स्तरीय सलाहकार मंच के रूप में किया गया है।

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मध्य क्षेत्रीय परिषद के उपाध्यक्ष हैं। क्षेत्रीय परिषद में शामिल राज्यों के मुख्यमंत्री को रोटेशन में परिषद का उपाध्यक्ष बनाया जाता है, जिनका कार्यकाल एक वर्ष का होता है।