जामिया के बाहर और शाहीन में प्रदर्शन जारी, मौके पर पुलिस बल की तैनात

0
100

नई दिल्ली : नागरिक संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) के खिलाफ दिल्ली-एनसीआर में शुक्रवार को भी प्रदर्शन होगा। इस बाबत दिल्ली पुलिस ने पूरी तैयारी कर ली है। सुरक्षा इंतजाम पुख्ता करने के साथ सुबह जामिया मिल्लिया इस्मालिया विश्वविद्यालय, शाहीन बाग और जसोला विहार मेट्रो स्टेशन बंद कर दिए गए थे, लेकिन 9 बजे के बाद दोबारा खोल दिए गए। दिल्ली पुलिस ने भीम आर्मी के मुखिया चंद्रशेखर को जामा मस्जिद से जंतर मंतर पर मार्च की अनुमति नहीं दी है। वहीं, जंतर मंतर पर प्रदर्शन के मद्देजर पुलिस बल तैनात कर दिया है।

दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में भी बृहस्पतिवार रात 10 बजे से 24 घंटे के लिए इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है।
बृहस्पतिवार को दिल्ली की सीमाओं पर वाहनों की सघन जांच चल रही थी। इसका सबसे ज्यादा असर यातायात पर पड़ा। सबसे बुरा हाल दिल्ली-गुरुग्राम एक्सप्रेस-वे पर था, जहां वाहन घंटों जाम में फंसे रहे।

बड़ी संख्या में यात्री और विमान के क्रू मेंबर इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय (आइजीआइ) एयरपोर्ट तक नहीं पहुंच पाए। इस कारण कई एयरलाइंस ने अपनी 25 उड़ानें रद कर दीं और 25 से ज्यादा उड़ानें दो घंटे की देरी से रवाना हुईं।

रद उड़ानों के लिए विमान यात्रियों को पूरी किराया राशि वापस की गई। 20 मेट्रो स्टेशन बंद होने से ऑफिस व अन्य कामकाज के लिए जाने वालों को परेशानी झेलनी पड़ी।

दिल्ली में शुक्रवार को भी कई इलाकों में धारा 144 लागू की गई है। ऐसा संभावित बवाल के मद्देनजर किया गया है।
दिल्ली पुलिस सोशल मीडिया पर भी नजर रख रही है। लोगों से भी सावधानी बरतने की भी अपील की गई है। दिल्ली पुलिस के पीआरओ एमएस रंधावा ने कहा है कि अगर कोई अफवाह फैलाता हुआ तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

बृहस्पतिवार को प्रदर्शन की निगरानी के लिए ड्रोन की भी व्यवस्था की गई थी। दोपहर में सुरक्षाबलों द्वारा ड्रोन का इस्तेमाल किया गया। यह शुक्रवार को अपनाया जा सकता है।

प्रदर्शन के लिए बृहस्पतिवार सुबह से जुटे प्रदर्शनकारियों की सेवा के लिए कई सामाजिक संस्थाएं भी आगे आईं। जिन्होंने पानी, बिस्कुट व चाय बांटी। इसमें शीशगंज गुरुद्वारे से भी कुछ लोग शाम को चाय लेकर पहुंचे थे।
जामिया मिल्लिया इस्लामिया की वेबसाइट हुई हैक

जामिया मिल्लिया इस्लामिया की आधिकारिक वेबसाइट बृहस्पतिवार रात हैक हो गई। वेबसाइट हैक कर लिखा गया कि जामिया छात्रों के समर्थन में डार्क नाइट ने इसे हैक किया है। मामले में विश्वविद्यालय के पीआरओ अहमद अजीम ने कहा कि जामिया संस्थान की वेबसाइट को थर्ड पार्टी आइएनएस देखती है। उनका सर्वर हैक हुआ है। इसे जल्द ठीक कर लिया जाएगा। बीते दिनों जामिया के छात्रों ने प्रदर्शन किया था। रविवार को कथित तौर पर पुलिस पर विश्वविद्यालय में घुसने, छात्रों के साथ मारपीट का आरोप लगा था। तब से छात्र इसका विरोध कर रहे हैं।