Madhya Pradesh Assembly : प्रहलाद लोधी की सदस्यता बहाली न करने से भाजपा खफा

0
153

भोपाल । विधानसभा सचिवालय द्वारा पवई विधायक प्रहलाद लोधी की सदस्यता बहाली की अधिसूचना जारी नहीं किए जाने से भाजपा बेहद खफा है। पार्टी नेताओं ने सोमवार को कहा कि जब निचली अदालत का फैसला आया तो 24 घंटे में कार्रवाई कर दी और अब हाई कोर्ट के फैसले पर मौन साधे हुए हैं। विधानसभा के शीतकालीन सत्र में प्रहलाद लोधी के मामले को भाजपा मुद्दा बनाएगी। सोमवार को लोधी की सजा पर हाईकोर्ट के स्टे को लेकर पूर्व विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीतासरन शर्मा और डॉ. नरोत्तम मिश्रा, नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के निवास पर पहुंचे। जहां तीनों नेताओं के बीच शीतकालीन सत्र में सरकार को घेरने सहित प्रहलाद लोधी की सदस्यता पर विधानसभा सचिवालय द्वारा अभी तक फैसला नहीं लेने पर चर्चा हुई।

बहुमत बनाना चाहती है कांग्रेस

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि प्रहलाद लोधी की हाई कोर्ट द्वारा सजा पर रोक को एक सप्ताह हो गए, लेकिन आदेश का पालन नहीं किया जा रहा है। भार्गव ने कहा कि कमलनाथ सरकार अल्पमत में है। पूर्ण बहुमत में नहीं है, इसलिए इस प्रकार के प्रयोग करने के हथकंडे अपना रखे हैं। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि शीतकालीन सत्र में प्रहलाद लोधी भाग लेंगे। उन्हें विधानसभा की कार्यवाही से दूर रखा गया तो यह लोकतंत्र की हत्या होगी। उन्होंने कहा कि विधायकों से भी बोला है कि लंबित प्रकरणों की जानकारी मुझे दें, सावधान रहने की आवश्यकता है। यह सरकार किसी भी तरह बहुमत बनाना चाहती है।

सदस्यता बरकरार है- सीतासरन शर्मा

पूर्व विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीतासरन शर्मा ने कहा कि लोधी की सदस्यता बरकरार है, हाई कोर्ट के स्टे के बाद सदस्यता वापस आ गई है। सिर्फ विधानसभा से एक अधिसूचना जारी होना है, लेकिन अभी तक जारी नही हुई है। सरकार को सुप्रीम कोर्ट जाना है तो जाए, लेकिन शीतकालीन सत्र में प्रहलाद लोधी सत्र में भाग लेंगे।