राज्यसभा में और मजबूत हुई भाजपा, सबसे नीचे पहुंची कांग्रेस, जानें उच्‍च सदन में संख्‍याबल का गणित

0
228

नई दिल्ली। नौ सीटों पर जीत के साथ राज्यसभा में भाजपा और मजबूत हो गई है। उच्च सदन में पार्टी की सदस्य संख्या 92 पर पहुंच गई है। इसी के साथ भाजपा के नेतृत्व वाले राजग के खाते में कुल 104 सीटें हो गई हैं। दूसरी ओर, देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस उच्च सदन में अपने अब तक के सबसे निचले स्तर पर है। दो और सीटें गंवाकर कांग्रेस की सदस्य संख्या 38 रह गई है।

सभी प्रत्याशी निर्विरोध

242 सदस्यीय उच्च सदन में उत्तर प्रदेश की 10 और उत्तराखंड की एक सीट के लिए चुनाव हुआ है। सोमवार को नाम वापस लेने की अंतिम तारीख बीतने के बाद सभी प्रत्याशियों के निर्विरोध चुने जाने का एलान किया गया। इनमें केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी समेत भाजपा के नौ प्रत्याशी चुने गए हैं। इनमें तीन सीटें पहले से भाजपा के खाते में थीं और छह नई सीटें पार्टी की झोली में आई हैं। इन छह में से दो सीटें कांग्रेस और तीन समाजवादी पार्टी के खाते में थीं। बहुजन समाज पार्टी ने भी एक सीट गंवाई है।

इनका हुआ चयन

उत्तर प्रदेश से चयनित लोगों में भाजपा के हरदीप सिंह पुरी, नीरज शेखर, अरुण सिंह, गीता शाक्य, हरिद्वार दुबे, बृजलाल, बीएल वर्मा और सीमा द्विवेदी शामिल हैं। समाजवादी पार्टी के रामगोपाल वर्मा और बसपा के रामजी गौतम भी निर्विरोध चुने गए। उत्तराखंड से भाजपा के नरेश बंसल को निर्विरोध चुना गया। सदस्यों का चयन 25 नवंबर, 2020 से 24 नवंबर, 2026 तक के लिए हुआ है।

सीटों का गणित

– 242 है उच्च सदन में सीटों की संख्या

– 92 की सदस्य संख्या पर पहुंची भाजपा

– 104 हो गई है राजग की सदस्य संख्या

– 38 के सबसे निचले स्तर पर आई कांग्रेस

राजग की ताकत बढ़ी

नई परिस्थिति में भाजपा के लिए राज्यसभा में महत्वपूर्ण विधेयकों को पारित कराना थोड़ा और आसान हो गया है। 242 सदस्यीय उच्च सदन में राजग के सदस्यों की संख्या 104 हो गई है। उसे चार नामित सदस्यों का भी समर्थन आसानी से मिल सकता है। इसके अलावा महत्वपूर्ण विधेयकों पर उसे अन्नाद्रमुक, बीजद, टीआरएस और वाईएसआर कांग्रेस का भी साथ मिल सकता है।