शिवराज सिंह चौहान की चेतावनी, ‘कमलनाथ सुधर जाओ, रात तुम्हारी थी, सुबह हमारी होगी’

0
136

सागर: मध्य प्रदेश के सागर जिले में जिंदा जलाए गए दलित युवक धन प्रसाद अहिरवार की मौत और कमलनाथ सरकार से न्याय न मिलने के विरोध में भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने मंगलवार को धरना दिया. भाजपा के इस विरोध प्रदर्शन में आम लोगों के अलावा मृतक धन प्रसाद की पत्नी पूजा भी शामिल हुईं.

इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, ‘कमलनाथ सरकार में गरीबों एवं दलितों के लिए दर्द होता तो यह घटना नही होती.’ शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि अत्याचार करने वाले बचाए जा रहे. बिजली के बड़े-बड़े बिल जनता को आतंकित कर रहे हैं. गरीबों का कफन भी सरकार खा गई.’

उन्होंने कहा, ‘कमलनाथ सुधर जाओ. कुर्सी आती-जाती रहती है. पूजा को न्याय दिलाओ. नूर की एक किरण भारी पड़ेगी. रात तुम्हारी थी सुबह हमारी होगी.’ शिवराज सिंह चौहान ने सोनिया गांधी, राहुल गांधी और मुख्यमंत्री कमलनाथ से राज्य में दलितों के साथ हो रही घटनाओं पर जवाब मांगा.

शिवराज सिंह ने कहा, ‘राज्य सरकार के मंत्री स्वंय को रावण की तरह समझ बैठे है कि उनकी नाभि में अमृत कुंड है. कोई हमारा क्या बिगाड़ लेगा.’ इस दौरान शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में शराब की एक भी नई दुकान नहीं खुलने देंगे. मृतक धन प्रसाद की पत्नी पूजा ने भाजपा के वरिष्ठ नेताओं को एक ज्ञापन सौंपा.

दूसरी ओर प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष सुरेंद्र चौधरी के नेतृत्व में धरना स्थल से कुछ दूरी पर कांग्रेसियों ने शिवराज सिंह चौहान, राकेश सिंह वापस जाओ के नारे लगाए. पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कमलनाथ सरकार पर इस घटना को दबाने का आरोप लगाया.

पीली कोठी के बगल वाले मैदान में आयोजित इस धरना प्रदर्शन में राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह, पूर्व गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह, मध्य प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, सांसद राजबहादुर सिंह सहित भाजपा के अन्य जनप्रतिनिधियों एवं कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया.