BJP ने केजरीवाल से पूछा, ‘टुकड़े-टुकड़े गैंग’ की फाइल क्यों दबाए बैठे हैं?

0
120

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election 2020) में जेएनयू का मुद्दा गूंज रहा है. भाजपा ने देश-विरोधी नारे लगाने के कथित आरोपी कन्हैया कुमार व उमर खालिद के खिलाफ चार्जशीट दायर न होने पर केजरीवाल सरकार पर निशाना साधा है. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने ट्वीट कर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से पूछा है, “कन्हैया और उमर खालिद जैसे टुकड़े-टुकड़े गैंग की फाइल क्यों दबाकर बैठे हैं?”

जेपी नड्डा ने ट्वीट कर कहा, “कन्हैया, उमर खालिद और अन्य ने जेएनयू में देशविरोधी भारत तेरे टुकड़े होंगे के नारे लगाए. एजेंसियों ने जांच करते हुए जनवरी, 2019 में चार्जशीट की तैयारी की, मगर केजरीवाल सरकार ने अनुमति नहीं दी. एक साल बाद भी केजरीवाल सरकार ने मंजूरी नहीं दी. केजरीवाल को दिल्ली को बताना चाहिए कि क्यों वे देश को तोड़ने वालों का समर्थन कर रहे हैं.”

उधर, दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने ट्वीट कर कहा, “सर जी! चिंता न करें, आप सिर्फ इतना बताएं कि कन्हैया और उमर खालिद जैसे टुकड़े-टुकड़े गैंग की फाइल क्यों दबाकर बैठे हैं? आप शरजील इमाम पर केस को मंजूरी देंगे या नहीं? आप दंगाइयों को ईनाम और खैरात में सरकारी नौकरी क्यों बांट रहे हैं?”

इसके साथ ही दिल्ली विधानसभा चुनाव में व्यापक प्रचार कर रहे गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) लगातार अपनी सभाओं में शाहीन बाग को मुद्दा बना रहे हैं. सोमवार को दिल्ली के रिठाला में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए बीजेपी के स्टार प्रचारक शाह ने आम आदमी पार्टी (AAP) के मुखिया अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) पर हमला किया.

गृहमंत्री अमित शाह ने पूछा, ”केजरीवाल जी, आप शरजील इमाम के खिलाफ कार्रवाई के पक्ष में हैं या नहीं? आप शाहीन बाग़ वालों के पक्ष में हैं या नहीं? इसे दिल्ली के लोगों के सामने स्पष्ट करें.” इससे पहले अपने भाषण में शाह ने कहा, ”आपने शरजील इमाम का वीडियो देखा होगा, जिसमें उसने कहा कि ‘नॉर्थ-ईस्ट को भारत से अलग कर देंगे’ शरजील ने देश को विभाजित करने के बारे में बात की. मोदी सरकार ने दिल्ली पुलिस से कहकर उसके खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज करवाया है.