अहमदाबाद आ रहे डोनाल्ड ट्रंप का एक और मैसेज, भारत को लेकर कही यह बड़ी बात

0
104

न्यूयॉर्क: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने कहा है कि वह भारत के लोगों के साथ होने को लेकर उत्सुक हैं. वे जर्मनी (Germany) के रामस्टीन एयर बेस में थोड़ी देर रुकने के बाद अहमदाबाद (Ahmedabad) पहुंचने वाले हैं. जर्मनी में ट्रंप ने कहा कि भारत दौरा बहुत रोमांचक होने वाला है.

एयर फोर्स वन रविवार को ईंधन भरने के लिए बेस में 80 मिनट के लिए रुका और स्थानीय समयानुसार रात 11. 30 बजे (भारतीय समयानुसार सुबह चार बजे) यात्रा जारी की. ट्रंप के दोपहर 11.40 बजे अहमदाबाद पहुंचने का कार्यक्रम है.

व्हाइट हाउस से रवाना होने से पहले उन्होंने कहा कि उन्हें लग रहा है कि दो दिन की यात्रा पर्याप्त नहीं है, हालांकि यह बहुत रोमांचक होगा. उन्होंने कहा, “मैं वहां एक रात रहने जा रहा हूं. यह बहुत पर्याप्त नहीं है. लेकिन यह बहुत रोमांचक होने वाला है.”

नवंबर में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के प्रचार के लिए के चलते उन्होंने इतने कम दिनों का कार्यक्रम रखा. भारत से लौटने के अगले दिन ट्रंप को शनिवार को होने वाले प्राइमरी चुनाव से पहले गुरुवार को दक्षिण कैरोलिना में एक रैली करनी है. उन्होंने कहा, “मैं भारत के लोगों के साथ होने के लिए उत्सुक हूं.”

ट्रंप ने कहा कि भारतीय प्रधानमंत्री, प्रधानमंत्री (नरेंद्र) मोदी के साथ उनकी अच्छी बनती है. वह उनके अच्छे दोस्त हैं. और इस यात्रा के लिए वह बहुत समय पहले से प्रतिबद्ध है और भारत आने को लेकर उत्सुक हैं.

अहमदाबाद के सरदार पटेल स्टेडियम में होने वाले ‘नमस्ते मोदी’ कार्यक्रम के बारे में ट्रंप ने कहा कि उन्होंने सुना है कि ‘यह एक बहुत बड़ा कार्यक्रम होने जा रहा है. कुछ लोग कहते हैं कि यह उनका सबसे बड़ा कार्यक्रम होगा. प्रधानमंत्री ने उन्हें यही बताया है.’

इससे पहले उन्होंने ट्वीट किया था, “भारत में अपने शानदार दोस्तों के साथ होने को लेकर उत्सुक हूं.” 2014 में रीयल एस्टेट बिजनेसमैन के तौर पर भारत आए ट्रंप इस बार अमेरिकी राष्ट्रपति के रूप में भारत आ रहे हैं.

इंवाका ने किया भारत दौरे से पहले ट्वीट
वहीं इवांका ट्रंप ने भारत दौरे से पहले ट्वीट किया, ‘हैदराबाद में ग्लोबल एंटरप्रेन्योरियल समिट में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुलाकात होने के दो साल बाद मुझे अमेरिका के राष्ट्रपति और अमेरिका की प्रथम महिला के साथ भारत आने का मौका मिल रहा है। यह दौरा दुनिया के दो सबसे बड़े लोकतांत्रिक देशों के बीच भव्य दोस्ती को मजबूत करेगा.