दिल्ली चुनाव प्रचार में अमित शाह बोले- बटन इतनी जोर से दबाना कि करंट शाहीन बाग में लगे

0
209

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनाव में सघन प्रचार कर रहे गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) लगातार अपनी सभाओं में शाहीन बाग को मुद्दा बनाते रहे हैं. रविवार को दिल्ली के बाबरपुर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि मुझे समझ नहीं आता कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और कांग्रेस नेता राहुल बाबा के बयान क्यों मिलते हैं? ये सब एक जैसी बातें क्यों करते हैं? इस दौरान लोगों से उन्होंने कहा कि जब चुनाव में बटन दबाना, तो इतना जोर से दबाना कि बटन बाबरपुर में दबे और करंट शाहीन बाग में लगे.

रोहतास नगर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि दिल्ली की सरकार दिल्ली में दंगे और हिंसा करने वालों के साथ खड़ी है. लोगों को आगाह करते हुए उन्होंने कहा कि अगर आप सरकार फिर से दिल्ली में आई तो दिल्ली शांत नहीं रह पाएगी. उन्होंने लोगों से अपील की दिल्ली में शांति और शाहीन बाग के खात्मे के लिए भाजपा को वोट दें.

उन्होंने कहा कि अगर दिल्ली को सजाना है, संवारना है तो फिर तो भाजपा को वोट दें और अगर ऐसा होगा तो शाहीन बाग पर साफ-साफ असर पड़ेगा. बीजेपी नेता ने कांग्रेस और आम आदमी पर दिल्ली में दंगा करने, हिंसा फैलाने और लोगों को उकसाने का आरोप लगाया है.

कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग बनाया
मोदी सरकार का बखान करते हुए शाह ने कहा, “जो काम 70 साल से लटके पड़े थे, उसे मोदी सरकार ने पूरा करने का काम शुरू कर दिया है. धारा 370 हटा कर कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग बना दिया है. आज 26 जनवरी के दिन पूरे राष्ट्र के साथ-साथ जम्मू कश्मीर में भी राष्ट्रध्वज पूरे शान के साथ फहराया गया.”

भव्य मंदिर बनेगा
मोदी सरकार ने राम मंदिर का अपना वादा पूरा किया और चार महीने के अंदर जहां रामलला का जन्म हुआ था वहां भव्य मंदिर बनेगा. जेएनयू का जिक्र करते हुए शाह ने कहा कि जेएनयू में भारत तेरे टुकड़े होंगे के नारे लगते थे, हमने उनको जेल में डालने का काम किया. लेकिन जनवरी 2019 से कोर्ट बार-बार इन लोगों के खिलाफ मुकदमा चलाने की मांग कर रही है लेकिन दिल्ली सरकार मुकदमा चलाने की अनुमति नहीं दे रही है.

56 इंच की सीने वाली सरकार
यूपीए सरकार का जिक्र करते हुए अमित शाह ने कहा कि 10 साल सोनिया और मनमोहन सिंह की सरकार चली, पाकिस्तान के मन में जो आता था वह कर लेता था. कोई भी पाकिस्तान की तरफ से घुसपैठ कर लेता था, लेकिन पाकिस्तान भूल गया कि अब 56 इंच की सीने वाली सरकार है. हमने उरी और पुलवाम हमले का माकूल जवाब दिया.

देश को गुमराह करने की राजनीति
अमित शाह ने कांग्रेस पार्टी पर नागरिकता कानून पर देश को गुमराह करने की राजनीति करने का आरोप लगाया. अमित शाह ने कहा कि यह सबको पता है कि नागरिकता कानून पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में जो हिंदू, सिख, जैन, पारसी प्रताड़ित हो रहे थे उनको नागरिकता देने के लिए बनाया गया कानून है. लेकिन राहुल बाबा और केजरीवाल सरकार इस कानून को लेकर भ्रम की राजनीति कर रही है.