वेरिफिकेशन कार्य में ढिलाई बरतने वाले नपेंगे -कलेक्टर

0
105

समय सीमा बैठक की समीक्षा, बोले शहर की स्थिति सबसे ख़राब

जबलपुर – कलेक्टर भरत यादव ने खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत पात्रता पर्चीधारी एवं बीपीएल सूची में शामिल परिवारों के सत्यापन कार्य में ढिलाई बरतने वाले सभी अधिकारियों -कर्मचारियों के विरुद्ध कार्यवाही करने और उनका वेतन रोकने के निर्देश दिए हैं । श्री  यादव ने ये निर्देश आज समय सीमा प्रकरणों की साप्ताहिक समीक्षा बैठक को सम्बोधित करते हुए दिए । कलेक्टर ने सत्यापन कार्य की धीमी गति नाराजी जाहिर की । उन्होने इस मामले में जबलपुर शहर की स्थिति को सबसे खराब बताया । श्री यादव ने इसके लिए सत्यापन दल में शामिल कर्मचारियों के विरुद्ध कार्यवाही के निर्देश दिए । कलेक्टर ने कहा कि पात्रता पर्चीधारी परिवारों एवं बीपीएल सूची में शामिल परिवारों के सत्यापन में अच्छा काम करने वाले कर्मचारियों को हर सप्ताह समय सीमा प्रकरणों की समीक्षा बैठक में सम्मानित किया जाएगा ।

खरीदी गई धान की एंट्री तत्काल की जाए कम्प्यूटर पर

कलेक्टर ने धान उपार्जन के कार्य पर चर्चा करते हुए बैठक में निर्देश दिए कि खरीदी केन्द्रों पर खरीदी गई धान की तत्काल कम्प्यूटर पर एंट्री की जाए । उन्होंने धान के उपार्जन में एफएक्यू मापदण्डों का कड़ाई से पालन करने की हिदायत दी है । श्री यादव ने कहा कि निम्न गुणवत्ता की धान किसी भी कीमत नहीं खरीदी जाए । उन्होंने कहा कि किसानों को खरीदी केन्द्रों पर साफ- सुथरी और सूखी धान लाने की समझाईश दी जाए । श्री यादव ने कहा कि धान खरीदी केन्द्रों पर किसानों की सुविधा के लिहाज से हर जरूरी व्यवस्था उपलब्ध हो इसका ध्यान रखा जाए । किसानों के लिए बनाई गई उपार्जन की व्यवस्था में किसानों को कोई भी परेशानी नहीं होनी चाहिए । खरीदी केन्द्रों पर किसानों की पूरी धान की खरीदी हो लेकिन व्यापारी या बिचौलिये इस व्यवस्था का किसी भी तफह अनुचित लाभ न उठा पाये इसका भी ध्यान रखा जाए । उन्होंने व्यापारियों का धान खरीदने के मामलों में तत्काल दोषियों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराने के सख्त निर्देश उपार्जन व्यवस्था से जुड़े अधिकारियों को दिए ।

अपने-अपने क्षेत्र के धान खरीदी केन्द्रों पर निगरानी राजस्व अधिकारी

कलेक्टर ने राजस्व अधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्र के धान खरीदी केन्द्रों पर निगरानी रखने तथा नियमित रूप से निरीक्षण करने के निर्देश दिए । उन्होंने खरीदी केंद्र दूर होने की किसानों की शिकायतों के निराकरण के निर्देश दिए तथा रि-मेपिंग कर निकटस्थ खरीदी केंद्र से किसानों को जोड़ने की बात कही । श्री यादव ने आपकी सरकार आपके द्वार योजना के तहत प्राप्त आवेदनों का निराकरण तय समय सीमा के भीतर करने की हिदायत बैठक में दी । उन्होंने राजस्व वसूली एवं राजस्व प्रकरणों के निराकरण की स्थिति की समीक्षा करते हुए दिसम्बर 2018 की स्थिति में दर्ज सभी राजस्व प्रकरणों का 31 मार्च तक निराकरण सुनिश्चित करने के निर्देश दिए । उन्होंने शहरी क्षेत्र में नजूल रिन्युअल के प्रकरण 31 दिसम्बर तक कम्पलीट करने तथा इसके साथ ही राष्ट्रीय राजमार्ग विभाग एवं मध्यप्रदेश सड़क विकास निगम के भू-अर्जन के प्रकरणों में भी 31 दिसम्बर तक मुआवजा वितरण की कार्यवाही करने के निर्देश दिए । कलेक्टर ने बैठक में स्वरोजगार ऋण योजनाओं के तहत हितग्राहियों को ऋण वितरण की स्थिति , सीएम हेल्पलाईन एवं सीएम मॉनिट से प्राप्त शिकायतों के निराकरण की स्थिति की समीक्षा भी की । श्री यादव ने शासकीय विभागों को भूमि आबंटन के मामलों के त्वरित निराकरण पर जोर दिया । उन्होंने प्रदूषण नियंत्रण मण्डल के अधिकारियों की समय सीमा बैठक में अनिवार्य उपस्थिति के निर्देश दिए । श्री यादव ने जबलपुर शहर में सड़कों पर पानी का छिड़काव करने की जरूरत बताई । उन्होंने कहा कि इससे धूल से होने वाली परेशानी से नागरिकों को राहत मिल सकेगी ।