भाजपा संसदीय दल की बैठक में PM मोदी पहुंचे:कृषिमंत्री तोमर ने सांसदों के लिए की लंच की व्यवस्था; संसद में गूंज सकता है तवांग

0
71

संसद के शीतकालीन सत्र से पहले आज भाजपा की संसदीय दल की मीटिंग हुई। इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और रक्षामंत्री राजनाथ सिंह पहुंचे। मीटिंग में संसद में चल रही कार्यवाही पर चर्चा हुई। इससे पहले 14 दिसंबर को भाजपा की बैठक में PM मोदी के लिए लगातार 3 मिनट तक तालियां बजी थीं। ये स्वागत गुजरात में जीत के लिए किया गया था।

इधर, संसद परिसर में आज सभी सांसदों के लंच की व्यवस्था केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने की है। PM मोदी भी दोपहर के भोजन में भी शामिल होंगे। PM ने 2023 को इंटरनेशनल ईयर ऑफ मिलेट्स घोषित किया है। इसी के तहत संसद में आज ज्वार, बाजरा और रागी से बने भोजन परोसे जाएंगे।

भाजपा की संसदीय दल की मीटिंग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहुंचे। पिछली मीटिंग में गुजरात चुनाव जीतने के लिए लगातार 3 मिनट तक तालियां बजी थीं।
भाजपा की संसदीय दल की बैठक के लिए मंत्री और सांसद पहुंच चुके हैं। इसमें संसद में चल रही कार्यवाही पर चर्चा की जाएगी।
भाजपा की संसदीय दल की बैठक के लिए मंत्री और सांसद पहुंच चुके हैं। इसमें संसद में चल रही कार्यवाही पर चर्चा की जाएगी।
असदुद्दीन ओवैसी बोले- PM मोदी देश को गुमराह कर रहे
अरुणाचल प्रदेश के तवांग इलाके में हुई झड़प का मामला लगातार तूल पकड़ता जा रहा है। AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने सरकार से संसद में बहस कराने की फिर से मांग की है। उन्होंने कहा कि PM मोदी देश को गुमराह कर रहे हैं। वे कह रहे हैं कि हमारे क्षेत्र में कोई निर्माण नहीं हुआ है, लेकिन सैटेलाइट्स की तस्वीरें बताती हैं कि चीनी सैनिकों ने डेपसांग और डेमचोक पर कब्जा कर लिया है।

खड़गे बोले- चीन हमारी जमीन पर कब्जा कर रहा है
कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने लोकसभा में कहा कि चीन हमारी जमीन पर कब्जा कर रहा है। इस मुद्दे पर हम चर्चा नहीं करेंगे तो और क्या चर्चा करेंगे? हम सदन में इस मुद्दे पर चर्चा के लिए तैयार हैं। लेकिन सरकार चर्चा से भाग रही है।

यह तस्वीर 19 दिसंबर की है। राज्यसभा में खड़गे ने सरकार से चीन के मुद्दे पर चर्चा की मांग की।
लोकसभा में उठा कश्मीरी पंडितों का मुद्दा
लोकसभा में कांग्रेस पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि आज कश्मीरी पंडित कश्मीर छोड़ रहे हैं। आतंकी कश्मीरी पंडितों को निशाना बनाने के लिए उनके नामों की लिस्ट तैयार कर रहे हैं। ऐसे में सदन में जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर चर्चा होनी चाहिए।

तवांग झड़प से जुड़ी ये खबरें भी पढ़िए…

1. तवांग में चीनी सैनिकों को घेरकर पीटते दिखे हमारे सैनिक

अरुणाचल में भारत और चीन के सैनिकों में झड़प का एक वीडियो सामने आया है। चीनी सैनिकों ने जैसे ही टेम्परेरी वॉल पर लगी तारबंदी को तोड़कर भारतीय सीमा में घुसने की कोशिश की, मुस्तैद भारतीय सैनिकों ने इनका जमकर मुकाबला किया और इन्हें खदेड़ दिया।

2. अभी और हमले करेगा चीन:भारत को सॉफ्ट टारगेट मान रहा ड्रैगन

2013 में जिनपिंग राष्ट्रपति बने। इससे बाद वो माओ की हथेली और 5 अंगुलियों की पॉलिसी को तेजी से आगे लेकर जा रहे हैं। 2013 के बाद से लगातार दो-तीन सालों से चीन ऐसी आक्रामक कार्रवाई कर रहा है। चाहे 2017 का डोकलाम विवाद हो, 2020 का गलवान हो या 2022 का अब अरुणाचल विवाद। ये जो झड़पें हैं, इन्हें छोटे तौर पर नहीं लिया जा सकता है। ये एक ट्रेलर देती हैं कि आने वाले वक्त में चीन भारत से युद्ध की हद तक जा सकता है।